PAK से नजदीकी बढ़ाने पर शेख हसीना बांग्लादेश में ही घिरीं, विदेश मंत्री ने दी नसीहत

PAK से नजदीकी बढ़ाने पर शेख हसीना बांग्लादेश में ही घिरीं, विदेश मंत्री ने दी नसीहत
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना. फाइल फोटो

बीते हफ्ते पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) और शेख हसीना (Bangladesh Prime Minister Sheikh Hasina) की बातचीत के बाद इस तरह की चर्चाएं थीं कि दोनों देशों में करीबियां बढ़ रहीं हैं.

  • Share this:
ढाका. बांग्लादेश (Bangladesh) और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच बढ़ती नजदीकियां अब पीएम शेख हसीना के लिए भारी पड़ती नज़र आ रहीं हैं. बीते हफ्ते पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) और शेख हसीना (Bangladesh Prime Minister Sheikh Hasina) की बातचीत के बाद इस तरह की चर्चाएं थीं कि दोनों देशों में करीबियां बढ़ रहीं हैं. हालांकि अब बांग्लादेश के विदेश मंत्री अब्दुल मोमिन (Bangladesh foreign minister AK Abdul Momen) ने शेख हसीना को पाकिस्तान आर्मी द्वारा किये गए जुल्म की याद दिलाई है.

मोमिन के मुताबिक ये सिर्फ एक सामान्य बातचीत थी और इसे संबंधों के मधुर होने और बांग्लादेश के सब भूल जाने की तरह नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने बिना नाम लिए शेखस हसीना को नसीहत देते हुए कहा- बांग्लादेश कभी पाकिस्तान की हैवानियत नहीं भूल सकता. उसने हमारे तीस लाख लोगों को मौत के घाट उतारा था और हजारों महिलाओं से रेप किया था. पाकिस्तान ने आज तक इन सभी चीजों के लिए माफ़ी तक नहीं मांगी है. इससे पहले पाकिस्तान ने दावा किया था कि दोनों नेताओं ने कश्मीर पर भी बातचीत की थी. उधर बांग्लादेश ने इसे खारिज करते हुए कहा है कि दोनों देशों के बीच सिर्फ कोरोना संक्रमण और बाढ़ को लेकर ही बातचीत हुई है.

मोमिन ने दी तीखी प्रतिक्रिया
पाकिस्तान से आ रही मीडिया रिपोर्ट्स और वहां की फॉरेन मिनिस्ट्री के बयान पर बांग्लादेश के विदेश मंत्री अब्दुल मोमिन ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, 'फोन इमरान की तरफ से आया था. कोविडि-19 और बाढ़ के हालात पर ही बातचीत हुई. यह सामान्य बातचीत थी. इससे ज्यादा कुछ नहीं. अच्छी बात है अगर पाकिस्तान हमसे रिश्ते सुधारना चाहता है.'
बता दें कि बांग्लादेश और पाकिस्तान के राष्ट्राध्यक्ष सिर्फ अंतरराष्ट्रीय मंचों पर ही मिलते हैं और दोनों देशों के रिश्ते अच्छे नहीं हैं. पाकिस्तान ने दावा किया कि बातचीत के दौरान कश्मीर का जिक्र भी हुआ. बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने इसे फौरन खारिज कर दिया. मोमिन ने आगे कहा, 'पाकिस्तान ने 1971 के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान हमारे 30 लाख लोगों की हत्या की. हजारों महिलाओं के साथ रेप किया. बांग्लादेश इसे कभी नहीं भूल सकता. पाकिस्तान ने अब तक इस हैवानियत के लिए माफी नहीं मांगी. इस तरह की बातचीत का कोई और मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए.



भारत को भी दी है सलाह
भारत के अयोध्या में भगवान श्रीराम (Sri Ram Temple Construction) का मंदिर बनने को लेकर भी बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमिन ने टिप्प्णी करते हुए रविवार को कहा कि भारत को ऐसे कदम से बचना चाहिए, जिससे उसके पड़ोसी देशों के साथ ऐतिहासिक गठबंधन को धक्का पहुंच सकता है. मोमेन ने मंदिर निर्माण की ओर इशारा करते हुए कहा कि दोनों ही देश आपसी रिश्तों को बर्बाद नहीं होने देना चाहेंगे. यही वजह है कि भारत को किसी भी ऐसे डेवलपमेंट से बचना चाहिए, जिससे बांग्लादेश के साथ ​रिश्तों में दरार पैदा कर दे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading