लाइव टीवी

पाकिस्‍तान के करतारपुर कॉरिडोर जाने को उतावले हैं नवजोत सिंह सिद्धू, लिख रहे चिट्टी पर चिट्ठी

News18Hindi
Updated: November 7, 2019, 4:52 PM IST
पाकिस्‍तान के करतारपुर कॉरिडोर जाने को उतावले हैं नवजोत सिंह सिद्धू, लिख रहे चिट्टी पर चिट्ठी
करतारपुर कॉरीडोर के उद्घाटन समारोह में जाना चाहते हैं सिद्धू.

करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur corridor) श्रद्धालुओं के लिए 9 नवंबर को खोला जाना है. उन्‍होंने पत्र में चेतावनी दी है कि अगर आप मेरे तीसरे पत्र का जवाब नहीं देते हैं तो जिस तरह अन्‍य श्रद्धालु वीजा पर जा रहे हैं, वैसे ही मैं भी पाकिस्‍तान का रुख करूंगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2019, 4:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पंजाब के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) पाकिस्‍तान जाने के लिए बेहद उतावले हैं. करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने की इजाजत मांगने के लिए सिद्धू ने गुरुवार को तीसरी बार विदेश मंत्रालय को चिट्ठी लिखी. इससे पहले बुधवार को भी नवजोत सिंह सिद्धू ने विदेश मंत्रालय को चिट्ठी लिख दूसरी बार नौ नवंबर को पाकिस्तान में करतारपुर गलियारे (Kartarpur Corridor) के उद्घाटन समारोह में शामिल होने की अनुमति मांगी थी.

गुरुवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर को संबोधित तीसरे पत्र में सिद्धू ने लिखा है, 'मेरी ओर से कई बार पाकिस्‍तान में करतारपुर कॉरिडोर के उदघाटन समारोह में जाने के लिए आपसे अनुमति मांगी गई. लेकिन आपने और सरकार ने अभी तक जवाब नहीं दिया. अगर सरकार मुझे जवाब देते हुए पाकिस्‍तान जाने की अनुमति नहीं देती है तो मैं नहीं जाऊंगा.' उन्‍होंने पत्र में चेतावनी दी है कि अगर आप मेरे तीसरे पत्र का जवाब नहीं देते हैं तो जिस तरह अन्‍य श्रद्धालु वीजा पर जा रहे हैं, वैसे ही मैं भी पाकिस्‍तान का रुख करूंगा.

सिद्धू ने तीसरी बार विदेश मंत्रालय को लिखा पत्र.


बुधवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jai Shankar) को लिखी चिट्ठी में सिद्धू ने कहा था कि पाकिस्तान सरकार ने गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए उन्हें आमंत्रित किया है. यह गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब को भारत के पंजाब में गुरदासपुर के स्थित डेरा बाबा नानक (Dera Baba Nanak) गुरुद्वारे से जोड़ेगा.

'उद्घाटन समारोह में शामिल होकर लौट आऊंगा'
सिद्धू ने दूसरे पत्र में लिखा था, ‘निमंत्रण आया है और जिसकी प्रति पहले ही जमा की जा चुकी है. कार्यक्रम बहुत स्पष्ट है. मेरा विनम्र निवेदन है कि नौ नवंबर की सुबह साढ़े नौ बजे से पहले गलियारे के जरिये सीमा पार करने की अनुमति दी जाए, क्योंकि उद्घाटन समारोह के लिए सुबह 11 बजे का समय तय किया गया है.’ उन्होंने कहा, ‘एक विनम्र सिख की तरह मैं गुरुद्वारा दरबार साहिब (करतारपुर) सबसे पहले जाकर बाबाजी (गुरु नानक देवजी) को शुक्रिया देने के लिए मत्था टेकना चाहता हूं और संगत के साथ लंगर करना चाहता हूं. वहां सुबह उद्घाटन समारोह में शामिल होकर शाम को गलियारे के रास्ते लौट आऊंगा.’

कहा था 8 नवंबर को जाऊंगा पाकिस्‍तान
Loading...

सिद्धू ने आगे लिखा, ‘अगर ऐसा संभव नहीं हुआ तो मैं गुरुद्वारा दरबार सहिब (करतारपुर साहिब) एक दिन पहले यानि आठ नवंबर को वाघा सीमा के जरिये जाऊंगा और रात को गुरुद्वारा साहिब में रुककर अगले दिन नौ नवंबर को उद्घाटन समारोह में शामिल होकर गलियारे के जरिये लौट आऊंगा.’ सिद्धू ने उल्लेख किया कि अभी उनके पास पाकिस्तान का वीजा नहीं है. पत्र के अंत में कांग्रेस नेता ने लिखा, ‘आपके (मंत्रालय) जवाब से मेरे भविष्य की गतिविधि निर्धारित होगी.’

यह भी पढ़ें: करतारपुर पर पाकिस्तान का यूटर्न, श्रद्धालुओं के लिए अब अनिवार्य किया ये दस्तावेज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 4:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...