होम /न्यूज /दुनिया /अब इमरान खान का ऑडियो हुआ लीक, PM रहते कांस्पीरेसी थ्योरी की कर रहे हैं बात

अब इमरान खान का ऑडियो हुआ लीक, PM रहते कांस्पीरेसी थ्योरी की कर रहे हैं बात

इमरान खान की ऑडियो लीक बढ़ाई पूर्व PM की मुश्किलें.

इमरान खान की ऑडियो लीक बढ़ाई पूर्व PM की मुश्किलें.

Imran Khan Audio Leak: ऑडियो में इमरान खान कैसे फॉरेन कांस्पीरेसी थ्योरी को देश के सामने बढ़ाना है इसको लेकर बात कर रहे ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

ऑडियो में इमरान खान कैसे फॉरेन कांस्पीरेसी थ्योरी को देश के सामने लाना है इसको लेकर चर्चा कर रहे हैं
पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार दोनों की बातचीत का ऑडियो उनके इस्तीफे से कुछ रोज पहले का है
ऑडियो में उनके प्रिंसिपल सेक्रेटरी आजम खान कह रहे हैं सब हमारे हाथ में हैं जो जोड़ना हो बता दीजिए

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के PM शहबाज शरीफ के बाद पूर्व PM इमरान खान के ऑडियो लीक ने देश में राजनीतिक उथल पुथल को बढ़ा दिया है. पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार यह ऑडियो इमरान खान के प्रधानमंत्री रहते हुए उनके प्रिंसिपल सेक्रेटरी आजम खान के साथ रिकॉर्ड हुई बातचीत की है. लीक ऑडियो में इमरान खान और आजम खान को आपस में फॉरेन कांस्पीरेसी की थ्योरी को आगे कैसे बढ़ाना है इस पर बात करते हुए सुना जा सकता है. पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार दोनों की बातचीत की ऑडियो उनके इस्तीफे से कुछ रोज पहले की है.

क्या हो रही है बातचीत
ऑडियो में इमरान खान कैसे फॉरेन कांस्पीरेसी थ्योरी को देश के सामने कैसे बढ़ाना है इसको लेकर बात कर रहे हैं. इस ऑडियो में उनके प्रिंसिपल सेक्रेटरी आजम खान को यह कहते हुए भी सुना जा सकता है कि सब कुछ हमारे हाथ में है तो जो मर्जी हो वो रिकॉर्ड में जोड़ देंगे. ऑडियो क्लिप में, एक आवाज, जिसमें इमरान को कहते हुए सुना जाता है, “हमें केवल इस पर खेलना है. हमें (किसी भी देश) का नाम नहीं लेना है. हमें बस इसी से खेलना है कि यह तारीख पहले से तय थी. नई बात जो सामने आएगी वो ये है कि चिट्ठी…”

वहीं फिर आजम खान कह रहे हैं, “देखिए, यदि आपको याद हो, तो उसमें राजदूत ने अंत में एक डिमार्च करने के लिए लिखा है. भले ही डिमार्च नहीं भेजा जाना है, जैसा कि मैंने रात में इसके बारे में बहुत सोचा है. मैंने सोचा कि यह सब कैसे कवर किया जाए. चलो शाह महमूद कुरैशी (जो इमरान की सरकार में विदेश मंत्री थे) और विदेश सचिव के साथ बैठक करते हैं. शाह महमूद कुरैशी उस पत्र को पढ़ेंगे और जो कुछ भी वह पढ़ेंगे उसे एक प्रति में बदल दिया जाएगा. फिर मैं (इसमें से कुछ मिनट्स बनाकर कहूंगा) कि विदेश सचिव ने इसे तैयार किया है. लेकिन इसका (साइफर का) विश्लेषण यहां करना होगा. हम विश्लेषण करेंगे और इसे मिनटों में बदल देंगे जैसा कि हम चाहते हैं ताकि यह ऑफिस का रिकॉर्ड बन सके.”

उन्होंने विस्तार से बताया कि विश्लेषण यह निष्कर्ष निकालेगा, “यह एक खतरा है. इसे कूटनीतिक भाषा में खतरा कहा जाता है.” आजम आगे कहते हैं कि मिनट्स मेरे हाथ में हैं … हम मिनटों में ड्राफ्ट तैयार करेंगे. इधर, दूसरे छोर पर मौजूद व्यक्ति, कथित तौर पर इमरान, को यह पूछते हुए सुना जाता है कि बैठक में किसे बुलाया जाएगा. “शाह महमूद, तुम, मैं और सोहेल?” जिस पर आजम खान हां कर देते हैं.

इसके बाद आजम खान यह समझाते हुए सुनाई देते हैं कि इस योजना के बाद, “चीजें रिकॉर्ड का हिस्सा बन जाएंगी.” इसके अलावा, आजम सुझाव देते हैं कि आप (कथित तौर पर इमरान) विदेश सचिव को बुलाएं ताकि यह राजनीतिक न लगे और नौकरशाही रिकॉर्ड का हिस्सा बन जाए. इस रिकॉर्डिंग से मीडिया यह अंदाजा लगा रही है कि अमेरिका के इमरान खान को सत्ता से बाहर करने की थ्योरी को इमरान खान ने खुद तैयार किया था.

Tags: Imran khan

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें