पाकिस्‍तान: जब भरी मीटिंग में पुलिस चीफ और SP के बीच चले लात-घूसे और जूते, जानें पूरा मामला

पाकिस्‍तान :  लाहौर कैपिटल सिटी पुलिस अधिकारी उमर शेख (फोटो साभार; Dawn )
पाकिस्‍तान : लाहौर कैपिटल सिटी पुलिस अधिकारी उमर शेख (फोटो साभार; Dawn )

कुछ अपुष्ट रिपोर्टें यह भी कहती हैं कि CCPO ने CIA SP का कॉलर भी पकड़ लिया तो दोनों अधिकारियों के बीच हाथापाई भी हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 2:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली/लाहौर : पाकिस्‍तान (Pakistan) के पुलिस विभाग में उस वक्‍त शर्मनाक और गंभीर स्थिति बन गई, जब एक हाईलेवल मीटिंग में दो सीनियर पुलिस अधिकारियों के लिए जूतमपैजार हो गई. यह वाकया गुरुवार को लाहौर (Lahore) के सेफ सिटी हेडक्‍वॉर्टर में देखने को मिला, जब लाहौर कैपिटल सिटी पुलिस अधिकारी उमर शेख की बैठक में अपराध जांच एजेंसी के एसपी असीम इफ्तिखार से बेहद गर्मागर्म बहस हो गई और शेख ने एसपी इफ्तिखार को गिरफ्तार करने के आदेश तक दे डाले.

सूत्रों के अनुसार, हालात तब बदतर हो गए जब बैठक के दौरान CCPO ने कथित तौर पर अपना आपा खो दिया और सिविल लाइंस के एसपी को सहयोगी असीम इफ्तिखार के खिलाफ पुलिस आदेश 2002 की धारा 155 (C)के तहत मामला दर्ज करने का निर्देश दिया.

इससे पहले कि हालात और बिगड़ते बैठक में मौजूद वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने हस्तक्षेप किया और दोनों वरिष्ठ अधिकारियों के बीच मध्यस्थता की. हालांकि, बाद में शेख ने अपने वरिष्ठ सहयोगियों के हस्तक्षेप पर गिरफ्तारी के आदेश वापस ले लिए.



हालांकि सूत्रों का कहना है कि उमर ने यह कहते हुए सीआईए एसपी को बैठक स्थल छोड़ने के लिए मजबूर किया कि उनकी सेवाएं लाहौर पुलिस के लिए आवश्यक नहीं थीं.
कुछ अपुष्ट रिपोर्टें यह भी कहती हैं कि CCPO ने CIA SP का कॉलर भी पकड़ लिया तो दोनों अधिकारियों के बीच हाथापाई भी हो गई.

इससे पहले लाहौर CCPO ने बैठक में मौजूद वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों पर कथित तौर पर विपक्षी दल PML-N के लिए "सॉफ्ट कॉर्नर" रखने की भी आरोप लगाया था.

पाकिस्‍तान के अंग्रेजी अखबार द डॉन के अनुसार, बैठक सुबह साढ़े तीन बजे चली और वहां स्थिति तनावपूर्ण बनी रही. उन्होंने कहा कि इस घटना ने सीसीपीओ की कमान के तहत काम करने वाले अन्य डिवीजनल एसपी और अधिकारियों को उनके 'आक्रामक रवैये' की वजह से चिंतित कर दिया.

यह बैठक आज (शुक्रवार को) गुजरांवाला में पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) एवं विपक्षी गठबंधन के राजनीतिक दलों की होने वाली रैलियों को लेकर बुलाई गई थी.

इस मीटिंग में जांच और संचालन विंग के डीआईजी शहजादा सुल्तान और अशफाक अहमद खान के अलावा ऑपरेशन विंग के सभी डिवीजनल एसपी को बुलाया गया था.

बैठक शुरू होते ही CCPO ने SP इफ्तिखार की अनुपस्थिति पर गौर किया और पूछताछ करने पर उन्हें बताया गया कि CIA SP बैठक में शामिल नहीं हो सकते, उन्‍हें बुखार था. इस पर CCPO ने अपने मातहतों से मोबाइल फोन पर SP से संपर्क करने को कहा. संपर्क किए जाने पर एसपी ने शेख से कहा कि बुखार होने की वजह से वह बैठक में शरीक नहीं हो सकते.

अधिकारियों का कहना है कि सीसीपीओ ने उनका अनुरोध नहीं माना और उन्‍हें मसले की गंभीरता को ध्‍यन में रखते हुए जल्‍द उसमें शरीक होने के निर्देश दिए.

हालांकि बाद में देरी से ही सही, लेकिन CIA SP मीटिंग में आ गए, लेकिन इससे CCPO बेहद नाराज थे. उन्‍होंने कथित तौर पर अपने अन्य सहयोगियों और वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में एसपी के बारे में अपमानजनक टिप्पणी भी की.

इस पर एसपी ने अपने सीनियर से ऐसा व्‍यवहार न करने की गुजारिश की तो वह सीसीपीओ उन पर चिल्‍लाने लगे और कहने लगे कि मैं तुम्हें गिरफ्तार करवा दूंगा.

इस पर एसपी ने कहा कि CCPO उससे एक कॉन्‍स्‍टेबल की तरह व्यवहार नहीं करे तो सीसीपीओ ने सिविल लाइंस एसपी सफदर रजा काजमी को असीम इफ्तिखार को गिरफ्तार करने और उनके खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया. साथ ही CCPO ने वहां मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिया कि अवज्ञा के आरोप में CIA SP से बंदूकधारी और अन्य कर्मचारियों को वापस ले लिया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज