पाक PM इमरान खान बोले- ओसामा के खिलाफ अमेरिका की कार्रवाई से मुझे शर्मिंदगी हुई

इमरान खान ने कहा, ‘जब ओसामा बिन लादेन को अमेरिकी सैनिक पाकिस्तान से निकालकर ले गए, तब मुझे बड़ी शर्मिंदगी महसूस हुई थी.'

News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 12:23 PM IST
पाक PM इमरान खान बोले- ओसामा के खिलाफ अमेरिका की कार्रवाई से मुझे शर्मिंदगी हुई
इमरान खान ने कहा, ओसामा के खिलाफ अमेरिका की कार्रवाई से मुझे शर्मिंदगी महसूस हुई (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 12:23 PM IST
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को कहा कि जब अमेरिकी सुरक्षा बलों ने खतरनाक आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को 2011 में पाकिस्तान के अंदर एक साहसिक कार्रवाई में मार गिराया था, तब उन्हें इस घटना से बड़ी शर्मिंदगी महसूस हुई थी.

यूएस इंस्टीट्यूट ऑफ पीस (यूएसआईपी) में अपने संबोधन में इमरान खान ने कहा कि ओसामा बिन लादेन के मुद्दे पर अमेरिका पाकिस्तान पर विश्वास नहीं करता था. इमरान ने कहा, ‘मैं आपको बता दूं कि जब ओसामा बिन लादेन को अमेरिकी सैनिक पाकिस्तान से निकालकर ले गये, तब मुझे बड़ी शर्मिंदगी महसूस हुई थी.’

'ओसामा पर कार्रवाई के दौरान मुझे शर्मिंदगी हुई'
एक सवाल के जवाब में पाक पीएम ने कहा, ‘मैंने इतनी शर्मिंदगी कभी महसूस नहीं की थी क्योंकि एक ऐसा देश जिसे हम अपना सहयोगी मानते हैं वह हम पर यकीन ही नहीं करता है.’

'Pak में चल रहे थे 40 आतंकी संगठन'
इससे पहले इमरान खान ने खुलासा किया कि पाकिस्तान में 40 आतंकी संगठन चल रहे थे. इसकी जानकारी पहले की सरकारों ने अमेरिका को नहीं दी. पिछले 15 साल से पाकिस्तान अमेरिका को गुमराह करता रहा है. इमरान ने कहा कि हम अमेरिका के साथ आतंक के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिले इमरान खान

Loading...

'9/11 में पाकिस्तान का हाथ नहीं'
हालांकि उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का 9/11 से कोई लेना देना नहीं है. पाकिस्तान में तालिबान नहीं है, लेकिन हमने जंग में अमेरिका का साथ दिया. जब चीजें खराब हुईं तो मैंने सरकार की आलोचना की, लेकिन हमसे पहले की सरकारों ने अमेरिका को जमीनी हकीकत के बारे में नहीं बताया.

व्हाइट हाउस में हुई इमरान-ट्रंप की मुलाकात
बता दें कि तीन दिवसीय अमेरिका दौरे पर गए इमरान खान ने अमेरिकी राष्ट्रपित डोनाल्ट ट्रंप से सोमवार को व्हाइट हाउस में मुलाकात की थी. यह दोनों नेताओं के बीच आमने-सामने पहली बातचीत थी. दोनों ने नेताओं ने इस बैठक को बहुत सफल बताया और कहा इससे द्विपक्षीय संबंधों को फिर से पटरी पर लाने में मदद मिलेगी.
First published: July 24, 2019, 12:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...