पाकिस्तान ने 17 भारतीय मछुआरों को किया अरेस्ट, कहा- दी थी चेतावनी, लेकिन नहीं सुना

कॉन्सेप्ट इमेज.

कॉन्सेप्ट इमेज.

पाकिस्तान (Pakistan) ने उनके जलक्षेत्र में कथित रूप से प्रवेश करने के लिए 17 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार (Arrest) किया है. साथ ही उनकी नौकाओं को भी जब्त कर लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 1, 2021, 11:14 AM IST
  • Share this:
कराची. पाकिस्तान (Pakistan) ने 17 भारतीय मछुआरों को देश के जलक्षेत्र में कथित रूप से प्रवेश करने के लिए गिरफ्तार (Arrest) किया है और उनकी तीन नौकाओं को जब्त कर लिया है. पाकिस्तान समुद्री सुरक्षा एजेंसी (पीएमएसए) के एक प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार को गिरफ्तार किए गए मछुआरों को शनिवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया और पुलिस को सौंप दिया गया है.

पाकिस्तानी अधिकारी ने कहा कि भारतीय मछुआरों को चेतावनी दी गई थी कि वे पाकिस्तान के जलक्षेत्र में हैं और उन्हें दूर चले जाना चाहिए लेकिन उन्होंने चेतावनी नहीं सुनी. प्रवक्ता ने कहा कि 17 मछुआरों को गिरफ्तार करने के लिए तेज गति वाली नौकाओं का इस्तेमाल किया गया जो पाकिस्तान और भारत के बीच तटीय सीमा सर क्रीक के पास पाकिस्तान के जलक्षेत्र में 10-15 समुद्री मील अंदर थे. भारतीय मछुआरों को कराची में मलिर या लांधी जेल भेजा जाता है. यह गिरफ्तारी एक वर्ष के अंतराल के बाद हुई है जब 23 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया गया था और मछली पकड़ने वाली उनकी चार नौकाओं को समुद्री सुरक्षा एजेंसी ने जब्त किया था.

ये भी पढ़ें: कर्ज में डूब रहा इमरान का नया पाकिस्तान, कई कंपनियों का दिवाला निकला, हैरान कर देंगे नए आंकड़े



पाकिस्तान और भारत अक्सर एक दूसरे के मछुआरों को गिरफ्तार करते रहते हैं क्योंकि अरब सागर में समुद्री सीमा का कोई स्पष्ट सीमांकन नहीं है और मछुआरों के पास उनके सटीक स्थान को जानने के लिए तकनीक से लैस नौकाएं नहीं हैं. सुस्त नौकरशाही और लंबी विधिक प्रक्रियाओं के कारण, मछुआरे आमतौर पर कई महीनों तक जेलों में रहते हैं और कभी-कभी सालों तक भी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज