भारत के साथ व्यापार बंद करने से खतरे में पड़ी पाकिस्तानों की जान, ये है वजह

भारत के साथ व्यापार संबंध (Trade Ties) तोड़ने के फैसले के बाद पाकिस्तान (Pakistan) में जीवनरक्षक दवाओं (Life saving drugs) तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं की कमी का जोखिम पैदा हो गया है.

भाषा
Updated: August 18, 2019, 5:46 PM IST
भारत के साथ व्यापार बंद करने से खतरे में पड़ी पाकिस्तानों की जान, ये है वजह
भारत से व्यापार संबंध खत्म करने के बाद पाकिस्तान पर दवाओं की कमी का खतरा मंडरा रहा है (फाइल फोटो- इमरान खान)
भाषा
Updated: August 18, 2019, 5:46 PM IST
भारत (India) के साथ व्यापार संबंध (Trade Ties) तोड़ने के फैसले के बाद पाकिस्तान (Pakistan) ने अपनी जनता की जान मुसीबत में डाल दी है. पाकिस्तान में जीवनरक्षक दवाओं (Life saving drugs) तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं की कमी का जोखिम पैदा हो गया है और पाकिस्तान के एक उद्योग संगठन ने इसे देखते हुए सरकार से फिलहाल आयात नियमों को आसान करने की अपील की है. प्रतिष्ठित पाकिस्तानी अख़बार डॉन (Dawn) ने इसके विषय में जानकारी दी.

पाकिस्तान के अखबार डॉन के अनुसार, उद्योग संगठन एम्पलायर्स फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान (EFP) ने कहा कि भारत से कच्चा माल या तैयार उत्पाद के रूप में आयातित जीवनरक्षक दवाएं बाजार से खत्म हो सकती हैं. इसे देखते हुए वैकल्पिक स्रोत की व्यवस्था नहीं हो जाने तक आयात में कुछ ढील दी जानी चाहिये.

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद पाकिस्तान ने उठाया था यह कदम
उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त किये जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार संबंधों को पूरी तरह तोड़ लिया था. इतना ही नहीं पाकिस्तान ने भारत के साथ यातायात के सभी तरीकों को बंद कर दिया था. उसने समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) और थार एक्सप्रेस (Thar Express) के अलावा भारत से लाहौर के लिए चलने वाली दिल्ली-लाहौर बस यात्रा (Lahore Bus Service) पर भी रोक लगा दी थी.

लेकिन नई स्थितियों के सामने आने के बाद संगठन एम्पलायर्स फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान (EFP) ने हवाईअड्डों या बंदरगाहों पर पहुंच चुके भारतीय वस्तुओं को बाजार में बिकने की छूट देने की भी अपील की. उसने कहा कि जो उत्पाद पहले ही हवाईअड्डों और बंदरगाहों पर पहुंच चुके हैं,उन्हें स्थानीय बाजारों में बिकने दिया जाना चाहिये.

संगठन ने सरकार से नियमों में ढील देने की गुजारिश की
संगठन एम्पलायर्स फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान (EFP) के उपाध्यक्ष जाकी अहमद खान ने शनिवार को एक बयान में कहा कि जीवनरक्षक दवाएं बनाने के लिये पाकिस्तान की दवा कंपनियों ने भारत से जिन सक्रिय औषधीय तत्वों का आयात किया है, उनका इस्तेमाल करने की छूट दी जानी चाहिये. हालांकि उन्हें यह छूट इस शर्त के साथ मिले कि वे तत्काल इन तत्वों का वैकल्पिक स्रोत तलाशेंगे.
Loading...

यह भी पढ़ें: Google में 'भिखारी' ढूंढने पर दिख रही इमरान खान की तस्वीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 18, 2019, 4:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...