पाकिस्तान: हिंदू परिवार के 5 लोगों की हत्या, चाकू और कुल्हाड़ी से किया हमला

पाकिस्तान में  हिंदू परिवार के 5 लोगों की बेरहमी से हत्या (सांकेतिक तस्वीर)

पाकिस्तान में हिंदू परिवार के 5 लोगों की बेरहमी से हत्या (सांकेतिक तस्वीर)

Hindu Family killed in Pakistan: पंजाब के मुख्यमंत्री सरदार उस्मान ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं और जल्द से जल्द दोषियों को पकड़ने के लिए कहा है. पाकिस्तान में आए दिन हिंदुओं के खिलाफ अत्याचार होते रहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 7, 2021, 10:39 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के मुल्तान से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. हिंदू परिवार के 5 लोगों की बेरहमी से हत्या (Hindu Family killed) कर दी गई. कहा जा रहा है कि इन सब पर चाकू और कुल्हाड़ी से हमला किया गया. कुछ लोगों का गला भी रेत दिया गया. इस घटना के बाद पाकिस्तान में हिंदू समुदाय में काफी डर का माहौल है. हत्या की वजहों का अभी पता नहीं चला है.

ये घटना रहीम यार खान सिटी की है. पुलिस के मुताबिक ये परिवार यहां से 15 किलोमीट दूर चक नंबर 135-P में रहता था. पुलिस ने घटनास्थल से चाकू और कुल्हाड़ी बरामद कर लिए हैं. यहां के एक सामजसेवी बीरबल दास ने पाकिस्तान के द न्यूज़ इंटरनेशनल को बताया कि इस घटना में मारे गए रामचंद की उम्र 35-36 साल थी और वो एक टेलरिंग की दुकान चलाते थे. इस घटना ने हर किसी को हिला कर रख दिया है.

जांच के आदेश
पंजाब के मुख्यमंत्री सरदार उस्मान ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं और जल्द से जल्द दोषियों को पकड़ने के लिए कहा है. बता दें कि पाकिस्तान में आए दिन हिंदुओं के खिलाफ अत्याचार होते रहते हैं. नाबालिग बच्चियों का अपहरण कर जबरदस्ती शादी करने की खबरें भी आते रहती है. पिछले दिनों यहां के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में एक कट्टरपंथी इस्लामिक पार्टी के सदस्यों ने एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की थी.





अल्पसंख्यक पर अत्याचार
एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में सालाना 1,000 अल्पसंख्यक लड़कियों को इस्लाम धर्म अपनाने के लिए मजबूर किया जाता है. मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का कहना है कि कोरोनावायरस में लगे लॉकडाउन के दौरान इन मामलों की संख्या बहुत बढ़ गई है. इस दौरान लड़कियां स्कूल नहीं जा रही हैं और परिवार कर्जे के बोझ के तले दबे हुए हैं. अधिकतर लड़कियां दक्षिणी सिंध प्रांत की गरीब और मजबूर हिन्दू परिवारों की लड़कियां हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज