होम /न्यूज /दुनिया /

पाकिस्तानः इमरान खान ने रैली में क्यों दिखाया विदेश मंत्री एस जयशंकर का वीडियो?

पाकिस्तानः इमरान खान ने रैली में क्यों दिखाया विदेश मंत्री एस जयशंकर का वीडियो?

इमरान खान शाहबाज शरीफ की सरकार को अमेरिका से आयातित सरकार कहते हैं. (फाइल फोटो)

इमरान खान शाहबाज शरीफ की सरकार को अमेरिका से आयातित सरकार कहते हैं. (फाइल फोटो)

Imran Khan News: इमरान खान ने भारत की स्वतंत्र विदेश नीति की प्रशंसा करते कहा कि भारत किसी के सामने नहीं झुकता नहीं है. उन्होंने अपनी रैली में विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर का वीडियो क्लिप भी चलाया, जिसमें भारतीय विदेश मंत्री को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि 'अगर भारत रूस से तेल खरीद कर युद्ध के लिए फंडिंग कर रहा है तो यूरोप के देश गैस खरीद कर क्या ऐसा नहीं कर रहे हैं.'

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

पाकिस्तान के पूर्व पीएम ने भारत की स्वतंत्र विदेश नीति की प्रशंसा की
इमरान खान ने कहा- अमेरिका को जवाब देने की ताकत रखता है भारत
इससे पहले भी कई मौकों पर भारत की तारीफ कर चुके हैं इमरान खान

नई दिल्ली. पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान जब से सत्ता से अपदस्थ हुए हैं, तब से वे भारत की तारीफ करने का कोई मौका चूक नहीं रहे हैं. उनके अधिकांश भाषणों में भारत की स्वतंत्र विदेश नीति की तारीफ होती है. अपनी सरकार गिराए जाने के पीछे इमरान खान अक्सर विदेश नीति पर अमेरिकी दबाव को दोषी मानते हैं. शनिवार को लाहौर में आयोजित एक रैली में इमरान खान भारत की स्वतंत्र विदेश नीति की तारीफ करने तक ही नहीं रूके, बल्कि भारतीय विदेश मंत्री का एक वीडियो क्लिप भी चलाया, जिसमें एस. जयशंकर स्लोवाकिया में आयोजित एक कार्यक्रम में भारतीय विदेश नीति से जुड़े सवालों के जवाब दे रहे हैं.

रैली में इमरान खान ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘अब मैं आपको दो मुल्कों के विदेश मंत्री को दिखाना चाहता हूं. पहले हिन्दुस्तान का विदेश मंत्री. उन्हें कहा गया कि आप रूस से तेल मत खरीदे. गौर से सुनें, हिन्दुस्तान अमेरिका का रणनीतिक साझेदारी है और जब उनको अमेरिका ने कहा- आप रूस से तेल नहीं खरीदें तो इसके बदले में डॉ जयशंकर ने क्या जवाब दिया ये सुनें?’ इसके बाद डॉ एस जयशंकर का वीडियो स्क्रीन पर चलाया जाता है.

दरअसल वीडियो में विदेश मंत्री एस जयशंकर से यह पूछा गया था कि ‘क्या भारत रूस से तेल खरीदकर यूक्रेन युद्ध के लिए फंडिंग नहीं कर रहा है? इस पर विदेश मंत्री ने करारा जवाब देते हुए कहा था कि ‘सिर्फ तेल खरीदने से किसी देश को फंडिंग हो जाती है, तो यूरोप रूस से भारी मात्रा में गैस खरीदता है, वह भी फंडिंग में ही गिना जाना चाहिए.’

इमरान खान ने कहा, ‘जब एस जयशंकर को अमेरिका ने कहा, रूस से तेल मत खरीदो, तो एस जयशंकर ने कहा, तुम कौन होते हो मना करने वाले, यूरोप गैस खरीद रहा है. हम भी खरीदेंगे. हम अपने लोगों की जरूरतों के लिए रूस से तेल खरीदेंगे.’ इमरान खान ने भारत की तारीफ करते हुए कहा कि ये होता है आजाद मुल्क. उन्होंने कहा कि हमारी जब सरकार थी, तो हमने रूस से सस्ता तेल खरीदने की बात की थी, लेकिन ये जो आयातित सरकार आई है, इनको हिम्मत नहीं है, रूस से तेल खरीदने की.’

बता दें कि इस साल की शुरुआत में स्लोवाकिया में आयोजित GLOBSEC 2022 ब्रातिस्लावा फोरम में ‘टेकिंग फ्रेंडशिप टू द नेक्स्ट लेवल: अलायज इन द इंडो-पैसिफिक रीजन’ विषय पर आयोजित एक परिचर्चा में विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर आमंत्रित थे. उनसे एक सवाल पूछा गया कि क्या रूस से भारत का तेल आयात यूक्रेन युद्ध के लिए फंडिंग नहीं कर रहा है? इसके जवाब में एस जयशंकर ने कहा, ‘क्या रूस की गैस यूरोप में नहीं आ रही है?’

विदेश मंत्री ने कहा, ‘देखिए मैं बहस नहीं करना चाहता, लेकिन विनम्रता से कहना चाहता हूं कि अगर भारत रूस से तेल खरीद कर यूक्रेन युद्ध के लिए फंडिंग कर रहा है तो यूरोप के गैस खरीददार देश फंडिंग नहीं कर रहे हैं?’ एस जयशंकर ने कहा कि ‘यूरोपीय मुल्क रूस पर जो प्रतिबंध लगा रहे हैं, वह इस तरह से लगा रहे हैं कि उनके अपने देश पर इसका असर नहीं पड़े. यह स्वतंत्रता बाकी देशों के लिए होनी चाहिए. अगर पश्चिमी देश तेल को लेकर इतने चिंतित हैं तो ईरानी तेल को बाजार में आने देना चाहिए.’

Tags: Imran khan, Pakistan, S Jaishankar

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर