लाइव टीवी

जेल में बंद शरीफ बोले- पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार, हमें कोई हरा नहीं सकता

News18.com
Updated: May 28, 2019, 7:00 PM IST
जेल में बंद शरीफ बोले- पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार, हमें कोई हरा नहीं सकता
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ

पाकिस्तान ने 28 मई 1998 को शरीफ के प्रधानमंत्री रहते बलूचिस्तान प्रांत के चागी में पांच परमाणु परीक्षण किए थे. तब से इस दिन को पाकिस्तान में यौम-ए-तकबीर के तौर पर मनाया जाता है.

  • News18.com
  • Last Updated: May 28, 2019, 7:00 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान ने मंगलवार को अपने परमाणु परीक्षण की 21वीं सालगिरह मनाई. इस मौके पर जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि देश को परमाणु शक्ति संपन्न बनाने के उनके फैसले ने उसकी सुरक्षा को ऐसा बना दिया है जिससे कोई जीत नहीं सकता. पाकिस्तान ने 28 मई 1998 को शरीफ के प्रधानमंत्री रहते बलूचिस्तान प्रांत के चागी में पांच परमाणु परीक्षण किए थे. तब से इस दिन को पाकिस्तान में यौम-ए-तकबीर के तौर पर मनाया जाता है.

भारत द्वारा 11 मई 1998 को पोकरण में सफलतापूर्वक परमाणु परीक्षण करने के कुछ दिन बाद पाकिस्तान ने भी परमाणु परीक्षण किया था. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) सुप्रीमो ने पार्टी के ट्विटर हैंडल पर साझा किए गए एक संदेश में कहा, '28 मई पाकिस्तान के इतिहास में कभी न भूली जाने वाली तारीख है. इस दिन पाकिस्तान की सुरक्षा को अजेय बनाया गया जब दुनिया के नक्शे पर पाकिस्तान एक परमाणु शक्ति के तौर पर उभरा.'

नवाज़ शरीफ ने कहा कि उनके ऊपर आर्थिक प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी गई थी और परमाणु परीक्षण बंद करने को कहा गया था. इसके अलावा पाकिस्तान के सामने अरबों रूपयों का प्रस्ताव भी रखा गया था लेकिन मैंने नहीं माना. मैंने सारी चुनौतियां स्वीकार कीं और टेस्ट को जारी रखा.

नवाज़ शरीफ 24 दिसंबर 2018 से सात साल की जेल की सज़ा काट रहे हैं. कोर्ट ने उन्हें पनामा पेपर लीक के बाद एक भ्रष्टाचार के मामले में ये सज़ा दी थी. हालांकि, शरीफ के परिवार ने इस बात से इनकार किया था. उनका कहना था कि ये सारा केस राजनीत से प्रेरित है.



ये भी पढ़ें: राजस्थान में कांग्रेस की महा पराजय की एक वजह ये भी!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 28, 2019, 6:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर