लाइव टीवी
Elec-widget

टेरर फंडिंग केस: हाफिज सईद पर चलेगा मुकदमा, 7 दिसंबर को सुनवाई

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 9:42 PM IST
टेरर फंडिंग केस: हाफिज सईद पर चलेगा मुकदमा, 7 दिसंबर को सुनवाई
लाहौर के एटीसी कोर्ट में हाफिज सईद के खिलाफ चलेगा मुकदमा

पाकिस्‍तान (Pakistan) के लाहौर की एटीसी कोर्ट (ATC Court) ने जमात-उद-दावा (Jamaat Ud Dawa) के चीफ हाफिज सईद (Hafiz Saeed) के खिलाफ मामले की सुनवाई के लिए 7 दिसंबर की तारीख तय की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 9:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान (Pakistan) की लाहौर स्थित एंटी टेररिज्‍म कोर्ट/एटीसी (ATC) ने शनिवार को जमात-उद-दावा (Jamaat Ud Dawa) के चीफ हाफिज सईद (Hafiz Saeed) और उनके सहयोगियों के खिलाफ सुनवाई की. इस दौरान कोर्ट (Court) ने कहा कि सईद और उनके साथियों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाएगा. कोर्ट ने अगली तारीख 7 दिसंबर तय की है. इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि सईद और उनके सार्थियों को सबूतों के आधार पर केस का सामना करना होगा.

इस दौरान हाफिज सईद को कोट लखपत जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच कोर्ट लाया गया. उस समय पत्रकारों को अंदर आने की अनुमति नहीं थी. बता दें कि इस साल जुलाई में हाफिज सईद और उसके साथियों के खिलाफ टेरर फंडिंग में 23 मामले दर्ज किए गए थे. सईद को 17 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था.

अदालत के एक अधिकारी ने सुनवाई के बाद कहा, 'अभियोजक अब्दुर रऊफ भट्टी ने अदालत से मामले की सुनवायी जल्द पूरी करने के लिए रोजाना के आधार पर सुनवाई करने का अनुरोध किया. जिसका सईद के वकील द्वारा विरोध किया गया.'

अंतरराष्ट्रीय समुदाय के दबाव में पाकिस्तानी प्राधिकारियों ने लश्कर-ए-तैयबा, जमात उद दावा और उसकी परमार्थ इकाई फलाह-ए-इन्सानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) द्वारा आतंकवाद के वित्तपोषण के लिए उनकी संपत्तियों और ट्रस्टों के इस्तेमाल के मामलों की जांच शुरू कर दी है.

सईद के मदरसों में सरकारी अधिकारी की नियुक्ति
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने 150 मदरसों में सरकारी अधिकारी नियुक्‍त किए हैं. इनमें ज्‍यादातर मदरसे मुंबई हमले के सरगना हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा (JUD) के हैं. एक अधिकारी ने कहा कि जेयूडी के नेटवर्क में 300 मदरसे और स्कूल, अस्पताल, एक प्रकाशन संस्था और एंबुलेंस सेवा शामिल है. जेयूडी और उसकी तथाकथित परमार्थ संस्था फलाह-ए-इंसानियत (FIF) में करीब 50,000 खिदमतगार (स्वयंसेवक) और सैंकड़ों ऐसे कार्यकर्ता हैं, जिन्हें भुगतान किया जाता है.

सरकार ने कई मदरसों, अस्पतालों और औषधालयों को नियंत्रण में लिया
Loading...

पंजाब सरकार ने 14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ (CRPF) के 40 जवानों के शहीद होने के बाद इसी साल मार्च में अंतरराष्ट्रीय दबाव में आकर प्रांत में जेयूडी और एफआईएफ से जुड़े 180 मदरसों, दो कॉलेजों, चार अस्पतालों, 178 एंबुलेंसों और 153 औषधालयों को अपने नियंत्रण में ले लिया था.

(भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें: 'सेनाध्यक्ष बाजवा के दिमाग की उपज है करतारपुर कॉरिडोर, भारत को चोट पहुंचाएगा'

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान कनेक्शन: PoK में बड़ा हुआ था लंदन ब्रिज चाकूबाजी कांड का संदिग्ध

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 9:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...