Home /News /world /

pakistan new law criminalises military criticism with 2 yr jail term sparks outrage

PAK सेना का उड़ाया मजाक तो होगी 2 साल की जेल, बिल पर मचा बवाल

इस आपराधिक कानून संशोधन बिल के तहत, पाकिस्तान के सशस्त्र बलों और उनके किसी कर्मी के खिलाफ जानबूझकर उपहास, अपमान और मानहानि नहीं किया जा सकेगा.

इस आपराधिक कानून संशोधन बिल के तहत, पाकिस्तान के सशस्त्र बलों और उनके किसी कर्मी के खिलाफ जानबूझकर उपहास, अपमान और मानहानि नहीं किया जा सकेगा.

विपक्षी दलों का तर्क है कि यह हमारी अपनी संस्थाओं के खिलाफ है. हम अपनी इन संस्थाओं के साथ मजबूती के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि अच्छे नीयत से की गई आलोचना को कभी भी गलत नहीं समझना चाहिए. हमें लोगों को डराकर रखने से बचना चाहिए.

इस्लामाबाद. पाकिस्तान में सेना की आलोचना करने वालों को जेल भेजने के लिए पूर्ववर्ती इमरान खान सरकार के एक बिल को लेकर नेशनल असेंबली में खूब बवाल हुआ. पाकिस्तान की नेशनल असेंबली स्टैंडिंग कमेटी ऑन इंटीरियर ने बुधवार को एक नया आपराधिक कानून संशोधन बिल पारित किया है. इसके अनुसार, पाकिस्तान सशस्त्र बलों के आलोचकों को अब दो साल की जेल की सजा के साथ-साथ 500000 रुपये तक का जुर्माना भी भरना पड़ सकता है. पाकिस्तानी सांसद मोहसिन दवार ने इस बिल को लेकर तंज कसे और इसे लोगों को डराने-धमकाने वाला बताया.

हालांकि, खुद इमरान खान के गृह राज्य खैबर पख्तूनख्वा की सरकार ने इस विधेयक के खिलाफ मतदान किया है. वहीं, पाकिस्तान के अन्य राज्यों ने इस विधेयक पर अभी तक अपने विचार व्यक्त नहीं किए हैं. विपक्षी दलों का तर्क है कि यह हमारी अपनी संस्थाओं के खिलाफ है. हम अपनी इन संस्थाओं के साथ मजबूती के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि अच्छे नीयत से की गई आलोचना को कभी भी गलत नहीं समझना चाहिए. हमें लोगों को डराकर रखने से बचना चाहिए.

इस आपराधिक कानून संशोधन बिल के तहत, पाकिस्तान के सशस्त्र बलों और उनके किसी कर्मी के खिलाफ जानबूझकर उपहास, अपमान और मानहानि नहीं किया जा सकेगा. ऐसा करने वालों को पाकिस्तान दंड संहिता (पीपीसी) की धारा 500 ए के तहत दो साल की जेल, 500000 रुपये तक का जुर्माना या दोनों सजा दी जा सकती है. इसके अलावा पाकिस्तानी सशस्त्र बलों के आलोचकों को दीवानी अदालत में मुकदमे का सामना करना पड़ेगा.

पाक अधिकारियों को राजनीति से दूर रहने के निर्देश
इस बीच पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने देश के कमांडर्स और आईएसआई से जुड़े अधिकारियों सहित अन्य प्रमुख अफसरों को राजनीति से दूर रहने और राजनेताओं के साथ बातचीत से बचने के लिए कहा है. द न्यूज इंटरनेशनल अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक ये निर्देश उन रिपोर्ट के बाद दिए गए हैं जिनमें कहा गया है कि पाकिस्तान के सैन्य प्रतिष्ठान पंजाब में आगामी उपचुनावों में हेरफेर करने के लिए कोशिश में शामिल हैं.

Tags: Pak army, Pakistan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर