सऊदी अरब से पाकिस्तान को दान में मिली चावल की बोरियां, विपक्ष ने इमरान को घेरा

फोटो सौ. (Reuters)

फोटो सौ. (Reuters)

सऊदी अरब (Saudi Arabia) से जकात (दान) में मिले चावल को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) में विपक्ष ने इमरान खान की सरकार को घेरा है.

  • Share this:

इस्लामाबाद. तीन दिन की यात्रा पर सऊदी अरब (Saudi Arabia) पहुंचे पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने देश लौट गए हैं. उनके दौरे पर विपक्ष सहित पाकिस्तान की जनता भी सवाल उठा रही है. सऊदी सरकार ने पाकिस्तान को चावल की 19,032 बोरियां दान की हैं. पाकिस्तान का विपक्ष इसे अपने देश की बेइज्जती बता रहा है. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने कहा कि इमरान जितनी कीमत के चावल सऊदी अरब से लेकर आए हैं, इससे ज्यादा पैसे तो उन्होंने अपनी यात्रा पर खर्च कर दिए.

इमरान इस यात्रा पर अपने साथ एक दर्जन मंत्रियों और दोस्तों को भी साथ ले गए थे. हालांकि, इमरान सरकार इस यात्रा को अपनी बड़ी उपलब्धि बता रही है. भुट्टो ने सऊदी अरब के दान देने के समय पर भी सवाल उठाया है. उन्होंने कहा कि सऊदी ने पाकिस्तान को ये मदद जकात या फितरा समझकर दी है. उन्होंने कहा कि इमरान खान ने राजनीति के क्षेत्र में 22 साल इस दिन को देखने के लिए ही मेहनत की थी. उन्हें न्यूक्लियर आर्म्ड कंट्री के लिए इस तरह की मदद लेने से पहले सोचना चाहिए था.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग, कहा-आर्टिकल 370 पर भारत पलटे अपना फैसला, तब होगी बातचीत

विपक्ष के हमले के बाद इमरान सरकार के मंत्री और अधिकारी बचाव की मुद्रा में आ गए हैं. उनके विशेष सलाहकार ताहिर अशरफी ने कहा कि पाकिस्तान गरीबों लिए सऊदी से ऐसी मदद पहले भी ले चुका है. उन्होंने कहा कि इस दौरे पर चावल की बोरियां दान करने का फैसला सऊदी ने एक महीने पहले ही कर लिया था. इमरान ने अपने तीन दिन के दौरे में सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान (MBS) से भी मुलाकात की. दोनों के बीच द्विपक्षीय रिश्ते सुधारने को लेकर चर्चा हुई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज