• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • तालिबान के वकील बने इमरान खान, वर्ल्ड कम्युनिटी को आतंक का डर दिखाया, बोले- तालिबान की मदद करो

तालिबान के वकील बने इमरान खान, वर्ल्ड कम्युनिटी को आतंक का डर दिखाया, बोले- तालिबान की मदद करो

इमरान खान अपने भाषण में तालिबान के वकील दिखाई दिए.

इमरान खान अपने भाषण में तालिबान के वकील दिखाई दिए.

तालिबान की तरफदारी करते हुए इमरान खान ने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान का आना एक नई हकीकत है. उस देश को बाहर से कंट्रोल नहीं किया जा सकता. हमारी ओर से अफगानिस्तान को मदद जारी रहेगी और दुनिया को भी उसकी मदद करनी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    दुशांबे. पाकिस्तानी पीएम इमरान खान (Pakistan PM Imran Khan) ने एक बार फिर से तालिबानी प्रेम का इजहार किया है. मौका था ताजिकिस्तान (Tajikistan) में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) का. यहां पाकिस्तानी पीएम ने अपना एजेंडा सबके सामने उजागर कर दिया. हालांकि उन्होंने कोई नई बातें नहीं कही, उन्होंने हर बार की तरह पाकिस्तान को सीमा पर से प्रायोजिक आतंकवाद का शिकार होने का रोना रोया. इसके बाद अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) निजाम की जमकर तरफदारी की और वर्ल्ड कम्युनिटी को ये अहसास दिलाने की कोशिश कि अगर उन्होंने तालिबान और अफगानिस्तान की मदद नहीं की तो उसके कितने बुरे नतीजे देखने को मिलेंगे.

    उन्होंने तालिबान की तरफदारी करते हुए कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान का आना एक नई हकीकत है. उस देश को बाहर से कंट्रोल नहीं किया जा सकता. हमारी ओर से अफगानिस्तान को मदद जारी रहेगी और दुनिया को भी उसकी मदद करनी चाहिए.

    तालिबान के वकील बने पाकिस्तानी पीएम
    अपने भाषण में इमरान पूरे वक्त अफगानिस्तान के ताजा हालातों के बारे में बताते हुए तालिबान की वकालात भी कराते नजर आए. इमरान ने तालिबान का बचाव करते हुए कहा कि अफगानिस्तान की सरकार इस समय विदेशी मदद पर निर्भर है. शांतिपूर्ण और स्थिर अफगानिस्तान से पाकिस्तान के हित भी जुड़े हैं. इसके लिए हम काम करते रहेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि अफगानिस्तान में कोई बाहरी दखल नहीं होना चाहिए.

    विश्व समुदाय पर डाल दी जिम्मेदारी
    इतना ही नहीं, इमरान ने वर्ल्ड कम्युनिटी को अफगानिस्तान में आतंकियों का भय दिखाते हुए कहा कि अब विश्व समुदाय की जिम्मेदारी है कि अफगानिस्तान में दोबारा संघर्ष न छिड़े. इसके साथ वह आतंकियों के लिए दोबारा से सुरक्षित ठिकाना न बन पाए. इसकी जिम्मेदारी विश्व समुदाय की है.

    पीएम मोदी ने इमरान खान के सामने किया अफगानिस्तान का जिक्र
    इससे पहले पीएम मोदी ने अपने भाषण में इस्लामी कट्‌टर सोच वालों को आईना दिखाया. उन्होंने अफगानिस्तान जिक्र करते हुए कहा कि इस समय क्षेत्र में सबसे बड़ी चुनौतियां शांति, सुरक्षा और विश्वास में कमी से संबंधित है और इन सबकी जड़ में बढ़ती हुई कट्टरता है. अफगानिस्तान में हाल के घटनाक्रमों में कट्टरपंथ से उत्पन्न चुनौती को और अधिक स्पष्ट कर दिया है. जिस समय पीएम मोदी अफगानिस्तान की जिक्र कर रहे थे, उस वक्त इमरान खान उनके सामने ही बैठे थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज