पाकिस्तान: विपक्षी दलों ने मानी इमरान खान की बात, 3 साल बढ़ेगा जनरल बाजवा का कार्यकाल

बाजवा के कार्यकाल के विस्तार को लेकर पाकिस्तान सरकार और विपक्षी पार्टियों के बीच अनुमति बन गई है (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने 19 अगस्त को एक अधिसूचना के जरिये 59 वर्षीय जनरल कमर जावेद बाजवा (General Qamar Javed Bajwa) के कार्यकाल को बढ़ाया था. हालांकि, उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने विस्तार देने की प्रक्रिया में अनियमितता का हवाला देते हुए नवंबर में सरकार के आदेश को निलंबित कर दिया था.

  • Share this:
    इस्लामाबाद. पाकिस्तान में सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की सरकार (Pakistan Tehreek-e-Insaf government) और विपक्षी पार्टियों (Opposition parties) के बीच सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा (General Qamar Javed Bajwa) के कार्यकाल के निर्धारण और विस्तार के लिए सेना अधिनियम में प्रस्तावित संशोधनों (Proposed Amendments to the Army Act) को लेकर सहमति बन गई है. मीडिया रिपोर्ट में शुक्रवार को यह जानकारी सामने आयी है.

    प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने 19 अगस्त को एक अधिसूचना के जरिये 59 वर्षीय जनरल बाजवा के कार्यकाल को बढ़ाया था. हालांकि, उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने विस्तार देने की प्रक्रिया में अनियमितता (Irregularities) का हवाला देते हुए नवंबर में सरकार के आदेश को निलंबित कर दिया था.

    सरकार ने सेना प्रमुख के विस्तार के लिए कानून पारित कराने का SC को दिया था आश्वासन
    बुधवार को, प्रधानमंत्री खान (Prime Minister Khan) की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की एक आपात बैठक में, सेना अधिनियम में संशोधन को मंजूरी दी गई. इसके करीब चार हफ्ते पहले सरकार ने उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) को छह महीने के भीतर सेना प्रमुख के विस्तार और पुनर्नियुक्ति पर एक कानून पारित कराने का आश्वासन दिया था.

    समाचार पत्र ‘डॉन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, सेना प्रमुख जनरल बाजवा के कार्यकाल में तीन साल का विस्तार देने संबंधी विधेयक को संसद में पेश करने से एक दिन पहले गुरुवार को सरकार और विपक्ष के बीच सहमति बनी.

    पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के पास होता है किसी को सेवा विस्तार देने का विशेषाधिकार
    पाकिस्तान सेना (संशोधन) कानून- 2020 नाम के इस कानून के जरिए तीनों सेनाओं के प्रमुखों (The Three Services Chiefs) और ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के चेयरमैन के लिए अधिकतम उम्र 64 साल कर दी गई है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के पास 60 साल की आयु का सामान्य कार्यकाल पूरा करने के बाद किसी को सेवा में विस्तार देने का विशेषाधिकार होता है, जिस पर राष्ट्रपति अपनी अंतिम मंजूरी देता है.

    इस बारे में बात करते हुए पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के पदाधिकारी ने बताया कि 64 साल की अधिकतम उम्र का कार्यकाल उसी प्रमुख अधिकारी को मिलेगा, जिसे सरकार सेवा विस्तार देगी.

    यह भी पढ़ें: सऊदी अरब ने कंदील बलोच के भाई के किया था गिरफ्तार, अब PAK को सौंपा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.