पाकिस्तान की 'मैंगो डिप्लोमेसी' पर चीन-अमेरिका ने फेरा पानी! नहीं कबूले तोहफे में भेजे गए आम

पाकिस्तानी पीएम इमरान खान (फाइल फोटो)

पाकिस्तान (Pakistan) कूटनीतिक रणनीति के तहत दुनियाभर के देशों को तोहफे में आम की अलग-अलग किस्मे भेज रहा है. हालांकि, खुद उसके परममित्र देश चीन और अमेरिका को पाकिस्तान की ये 'मैंगो डिप्लोमेसी' (Mango Diplomacy) पंसद नहीं आई.

  • Share this:
    इस्लामाबाद. कोरोना महामारी और आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान (Pakistan) ने नई कूटनीतिक रणनीति अपनाने की सोची, लेकिन वह उसमें भी कामयाब नहीं हो पाया. उसके खास दोस्त चीन और अमेरिका (China And America) ने ही उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया. नई कूटनीति के तहत पाकिस्तान दुनियाभर के देशों को तोहफे में आम की अलग-अलग किस्मे भेज रहा है. हालांकि, खुद उसके परममित्र देश चीन और अमेरिका को पाकिस्तान की ये 'मैंगो डिप्लोमेसी' पसंद नहीं आई और पाकिस्तान की ओर से तोहफे में भेजे गए आम वापस लौटा दिए. स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान विदेश मंत्रालय (एफओ) ने बुधवार को अमेरिका और चीन समेत 32 से अधिक देशों के प्रमुखों को तोहफे में आम भेजे थे, लेकिन अमेरिका और चीन जैसे देशों ने अपने कोरोना वायरस क्वारंटाइन नियमों का हवाला देते हुए तोहफे को स्वीकार करने से इनकार कर दिया.

    रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अल्वी की ओर से 32 देशों के राष्ट्राध्यक्षों और सरकार के प्रमुखों को 'चौसा' आम भेजे गए थे. आमों की पेटी को ईरान, खाड़ी देशों, तुर्की, अमेरिका, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और रूस भेजा गया था. मीडिया रिपोर्ट ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पाकिस्तान विदेश मंत्रालय की इस सूची में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का भी नाम था, लेकिन पेरिस से पाकिस्तान के इरादे पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.

    ये भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र में भारत ने कहा- सामान्य संबध बनाने के लिए आतंक मुक्त माहौल तैयार करे पाकिस्तान

    चीन और अमेरिका के अलावा कनाडा, नेपाल, मिस्र और श्रीलंका ने भी पाकिस्तान की ओर से तोहफे में भेजे गए आमों को स्वीकार करने से इनकार कर दिया. इसके पीछे कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लागू क्वारंटाइन नियम का हवाला दिया. बता दें कि पाकिस्तान द्वारा भेजे जाने वाले आमों की किस्मों में पहले 'अनवर रत्तोल' और 'सिंधारी' किस्में भी खेप का हिस्सा थीं, लेकिन इस बार दोनों को हटा दिया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.