अपना शहर चुनें

States

कमजोर पड़ा पाक तो भारतीय राजनयिक को बुला करने लगा संघर्षविराम उल्लंघन की शिकायत

भारतीय राजनयिक गौरव आहलूवालिया को समन कर पाकिस्तान ने सीजफायर उल्लंघन की शिकायत की है (फाइल फोटो)
भारतीय राजनयिक गौरव आहलूवालिया को समन कर पाकिस्तान ने सीजफायर उल्लंघन की शिकायत की है (फाइल फोटो)

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय (Pakistan's Foreign Ministry) के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल (Mohammed Faisal) ने भारतीय राजनयिक से अपनी बातचीत में गोलीबारी में तीन पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने की बात को भी स्वीकार किया है.

  • Share this:
पाकिस्तान (Pakistan) ने भारतीय सैनिकों द्वारा नियंत्रण रेखा (LoC) पर संघर्षविराम का कथित तौर पर उल्लंघन (Ceasefire Violation) किए जाने का विरोध करने के लिए गुरुवार को भारत के उप-उच्चायुक्त गौरव अहलूवालिया (Gaurav Ahluwalia) को समन किया. आहलूवालिया से इस दौरान भारत की ओर से संघर्षविराम का पूरी तरह से सम्मान करने का आग्रह किया गया, जबकि पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन लगातार जारी है.

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा कि महानिदेशक (दक्षिण एशिया और दक्षेस) मोहम्मद फैसल ने अहलूवालिया को तलब किया और ‘‘भारतीय सेना द्वारा 15 अगस्त को लिपा तथा बट्टल सेक्टरों में किए गए संघर्षविराम उल्लंघन की निंदा की.’’ मोहम्मद फैसल विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता भी हैं.

किया आग्रह कि अपनी सेनाओं को पूरी तरह संघर्षविराम का सम्मान करने का निर्देश दे भारत
रिपोर्ट के मुताबिक मोहम्मद फैसल ने अपनी बातचीत में गोलीबारी में तीन पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने की बात को स्वीकार किया है. महानिदेशक (दक्षिण एशिया और दक्षेस) मोहम्मद फैसल ने दावा किया कि भारतीय सेना 2003 की संघर्षविराम व्यवस्था का लगातार उल्लंघन कर रही है.
उन्होंने कहा कि भारत द्वारा संघर्षविराम का उल्लंघन क्षेत्रीय शांति और सुरक्षा के लिए खतरा है. फैसल ने भारत से आग्रह किया कि वह अपनी सेनाओं को संघर्षविराम का पूरी तरह से सम्मान करने का निर्देश दे.



पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान विरोध के दौरान भी किया गया था समन
इससे पहले पाकिस्तान ने आहलूवालिया को पुलवामा हमले के बाद भारत में होने वाले पाकिस्तान विरोध के दौरान भी समन किया था. तब विशेष सचिव (एशिया पैसीफिक) इम्तियाज अहमद ने कार्यवाहक उच्चायुक्त से शिकायत की थी कि 18 फरवरी को भारतीय सुरक्षा अधिकारियों की मौजूदगी के बावजूद प्रदर्शनकारी पाकिस्तान हाउस के पास पहुंचे और उन्होंने गेट हिलाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया.

उस दौरान विशेष सचिव ने पाकिस्तान सरकार की मांग दोहराते हुए कहा कि भारत सरकार सुरक्षा चूक की तुरंत जांच कराए. साथ ही नई दिल्ली में स्थित उच्चायोग व वहां कार्यरत कर्मचारियों और उनके परिजनों की सुरक्षा को और मुस्तैद करे ताकि भविष्य में दोबारा ऐसी घटना न हो.

यह भी पढ़ें: भारत ने खारिज किया पाकिस्तान का दावा, नहीं शहीद हुए 5 जवान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज