Home /News /world /

पाकिस्तान में खौफ पैदा कर रहा TTP, मुल्क में बढ़ सकती हैं आतंकी घटनाएं

पाकिस्तान में खौफ पैदा कर रहा TTP, मुल्क में बढ़ सकती हैं आतंकी घटनाएं

प्रतीकात्मक फोटो.

प्रतीकात्मक फोटो.

Pakistan Terror Activity: पाकिस्‍तानी अखबार में कहा गया है कि पिछले दो सालों के दौरान, टीटीपी और उसके गुटों ने रावलपिंडी और इस्लामाबाद में 11 आतंकवादी हमले किए, जिसके परिणामस्वरूप 13 सुरक्षाकर्मी मारे गए. इस हफ्ते इस्लामाबाद में हुए हमले में पुलिसकर्मियों को भी निशाना बनाया गया. अगर इस तरह के और हमले होते हैं तो इस्लामाबाद की सड़कों पर बैरिकेड्स और चेक पोस्ट लगा दिए जाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

    इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) के आगामी दिनों में आतंकी घटनाएं और अधिक बढ़ सकती हैं. हाल के दिनों में बढ़ी आतंकी घटनाओं (Terror Activity) के मद्देनजर स्थानीय मीडिया ने इस संबंध में विशेषज्ञों के हवाले से ये बात कही है. इसे लेकर गृहमंत्री शेख राशिद ने कहा, ‘सभी एजेंसियों को अलर्ट किया गया है. यह अलर्ट लाहौर के अनारकली इलाके में हुए धमाके के बाद किया गया है, जिसमें की मौत हुई थी.’

    पाक अखबार ‘डॉन’ ने ‘ग्रोइंग टेरेरिज्म थ्रेट’ शीर्षक से एक लेख में बढ़ती आतंकी घटनाओं और तहरीक एक तालिबान (टीटीपी) पर चिंता जताई गई है. इसके मुताबिक, अफगानिस्तान में तालिबान सरकार बनने के बाद से पाकिस्तान में टीटीपी की आतंकी घटनाएं बढ़ी हैं. केंद्रीय मंत्री राशिद के मुताबिक, 15 अगस्त 2021 के बाद से आतंकवाद की घटनाओं में करीब 35 फीसदी का इजाफा हुआ है. पाकिस्तान के सुरक्षा विशेषज्ञों के बीच यहां तक बहस छिड़ी है कि टीटीपी अलकायदा और ईटीआईएम के बीच कोई गुप्त समझौता हुआ है. इस समझौते की वजह कहीं न कहीं कूटनीतिक विवाद है.

    PM पद से हटाया तो हो जाऊंगा खतरनाक, इमरान खान की विपक्ष को खुली धमकी

    पाकिस्‍तानी अखबार में कहा गया है कि पिछले दो सालों के दौरान, टीटीपी और उसके गुटों ने रावलपिंडी और इस्लामाबाद में 11 आतंकवादी हमले किए, जिसके परिणामस्वरूप 13 सुरक्षाकर्मी मारे गए. इस हफ्ते इस्लामाबाद में हुए हमले में पुलिसकर्मियों को भी निशाना बनाया गया. अगर इस तरह के और हमले होते हैं तो इस्लामाबाद की सड़कों पर बैरिकेड्स और चेक पोस्ट लगा दिए जाएंगे.

    आजादी साथ मिली तो संवैधानिक बनने में भारत से 23 साल कैसे पिछड़ा पाकिस्तान

    वहीं, अफगानिस्तान में सक्रिय इस्लामिक स्टेट खुरासान (IS-K) ने प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) की तुलना में पाकिस्तान के अशांत प्रांत खैबर पख्तूनख्वा की शांति और अखंडता के लिए कहीं अधिक बड़ा खतरा पैदा किया है. ये बात प्रांतीय पुलिस प्रमुख ने कही है. पिछले साल अगस्त में काबुल में तालिबान के सत्ता में आने के बाद अफगानिस्तान के कई शहरों में हमले तेज करने वाले IS-K ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में पाकिस्तान के सुरक्षा अधिकारियों पर आतंकवादी हमलों को भी अंजाम दिया था. (एजेंसी इनपुट)

    Tags: India pakistan, Islamic Terrorism, Terrorism

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर