लाइव टीवी

पाकिस्‍तान के पूर्व PM नवाज शरीफ की हालत गंभीर, फिर अचानक घटे प्‍लेटलेट्स

पीटीआई
Updated: November 2, 2019, 6:39 PM IST
पाकिस्‍तान के पूर्व PM नवाज शरीफ की हालत गंभीर, फिर अचानक घटे प्‍लेटलेट्स
नवाज शरीफ की हालत गंभीर बनी हुई है.

नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) को पाकिस्तान (Pakistan) के भ्रष्टाचार रोधी निकाय की हिरासत से सोमवार रात को लाहौर (Lahore) के सर्विसेज अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. उस समय उनके प्‍लेटलेट्स काउंट गंभीर रूप से कम होकर 2000 पर पहुंच गए थे.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान (Pakistan) के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की तबीयत फिर बिगड़ गई है. उनके खून में मौजूद प्‍लेटलेट्स (Platelets) की संख्‍या शुक्रवार को फिर घटना शुरू हो गई. इससे 69 वर्षीय नवाज शरीफ की हालत गंभीर बनी हुई है. इससे पहले गुरुवार को उनका प्‍लेटलेट्स काउंट 35 हजार से बढ़कर 51 हजार पहुंच गया था. लेकिन अगले दिन ही शुक्रवार इसमें फिर से कमी देखी गई. यह जानकारी उनके निजी डॉक्‍टर ने शनिवार को दी है.

कारणों की हो रही है जांच
डॉक्‍टर अदनान खान के अनुसार, पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की हालत लगातार गंभीर बनी हुई है. उनका इलाज कर रहे डॉक्‍टरों ने उन्‍हें दी जा रही स्‍टेरॉयड की मात्रा को कम करने का प्रयास किया, लेकिन शुक्रवार को इससे उनके प्‍लेटलेट्स काउंट कम होने लगे. जियो न्‍यूज के अनुसार डॉक्‍टर अदनान खान का कहना है कि नवाज शरीफ के प्‍लेटलेट्स काउंट अचानक कम होने के पीछे के कारणों की जांच की जा रही है.

सोमवार रात को कराया गया था भर्ती

बता दें कि नवाज शरीफ को पाकिस्तान के भ्रष्टाचार रोधी निकाय की हिरासत से सोमवार रात को लाहौर के सर्विसेज अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. उस समय उनके प्‍लेटलेट्स काउंट गंभीर रूप से कम होकर 2000 पर पहुंच गए थे.

8 हफ्ते के लिए सजा निलंबित
इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के एक मामले में नवाज शरीफ की सात साल की सजा मंगलवार को आठ हफ्ते के लिए निलंबित कर दी थी, जिससे मेडिकल आधार पर उनकी रिहाई का रास्ता साफ हो गया. उन्हें चौधरी शुगर मिल्स से जुड़े धन शोधन के एक मामले में लाहौर उच्च न्यायालय से पहले ही जमानत मिल चुकी है.
Loading...

हालत स्थिर करना प्राथमिकता
नवाज शरीफ को बेहतर इलाज के लिए लंदन ले जाने के संबंध में पीएमएल-एन के महासचिव एहसान इकबाल ने कहा कि डॉक्टरों की पहली और सर्वप्रथम कोशिश उनकी हालत को स्थिर करना है. इकबाल ने कहा, 'एक बार जब उनकी हालात स्थिर हो जाएगी तो विदेश जाने का सवाल पैदा होगा और फिर फैसला होगा.' एक अन्य पीएमएल-एन नेता और पूर्व विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि शरीफ खुद फैसला करेंगे कि वह विदेश में इलाज कराना चाहते हैं या नहीं.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के पूर्व PM नवाज शरीफ लड़ रहे जिंदगी की जंग, 2000 के ऊपर नहीं जा रही प्लेटलेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 5:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...