लाइव टीवी

अपना घर संभलता नहीं... और इमरान खान ईरान-सऊदी के बीच का तनाव कम करने पहुंचे तेहरान

भाषा
Updated: October 13, 2019, 11:38 PM IST
अपना घर संभलता नहीं... और इमरान खान ईरान-सऊदी के बीच का तनाव कम करने पहुंचे तेहरान
इमरान खान सऊदी अरब और ईरान की यात्रा पर गए हुए हैं (फाइल फोटो)

ईरान (Iran) और सऊदी अरब (Saudi Arab) के बीच बढ़े तनाव को कम करने के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) इन दोनों देशों की यात्रा पर गए हैं.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पश्चिम एशिया (West Asia) में बढ़े तनाव को कम करने के प्रयास के तहत रविवार को पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के ईरान (Iran) एवं सऊदी अरब (Saudi Arab) की यात्रा पर गए हैं. राजनयिक सूत्रों ने यह जानकारी दी.

बता दें कि इमरान की यह यात्रा ऐसे वक्त में हो रही है जब पाकिस्तान की हालत न सिर्फ आर्थिक मोर्चे पर खराब है बल्कि खुद प्रधानमंत्री इमरान खान को चीन (China) में अपने सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से पूछ-पूछकर निर्णय लेते दिखे थे. बता दें कि बाजवा भी इमरान के साथ सऊदी और ईरान की यात्रा पर जा सकते हैं.

पहले ईरान फिर सऊदी जाएंगे इमरान
सूत्रों ने बताया कि खान सबसे पहले तेहरान (Tehran) पहुंचे, जहां उनके ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी (Hassan Rouhani) से रविवार को मुलाकात करने की खबर थी. इस बैठक के बाद प्रधानमंत्री खान रियाद (Riyadh) के लिये उड़ान भरेंगे. वहां वह सऊदी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात करेंगे. बताया गया था कि इस दौरान खान के साथ पाकिस्तानी सेना के वरिष्ठ प्रतिनिधि भी होंगे. इस यात्रा को लेकर पाकिस्तान ने चुप्पी साध रखी थी.

ट्रंप से भी किया था मध्यस्थता का अनुरोध
गुरुवार को ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की खबर के अनुसार ईरान एवं सऊदी अरब के बीच मध्यस्थता के इरादे से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के इस महीने के आखिर में ईरान एवं सऊदी अरब की यात्रा करने की संभावना की बात कही गई थी.

पिछले महीने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर खान ने कहा था कि पश्चिम एशिया में तनाव कम करने के लिये अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उनसे अमेरिका से मध्यस्थता का अनुरोध किया है. बाद में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने ही उनसे संपर्क किया था और इस बारे में अंतत: कुछ भी तय नहीं हुआ है.
Loading...

तेल संयंत्र पर हमले के बाद ईरान और सऊदी में बढ़ा था तनाव
पिछले महीने सऊदी अरब के तेल संयंत्रों पर मिसाइल हमले (Missile Attack) के बाद से ईरान और सऊदी अरब के बीच तनाव बढ़ गया है. सऊदी अरब और अमेरिका दोनों देशों ने ड्रोन हमले के लिये ईरान पर आरोप लगाया, जिसका ईरान ने सख्ती से विरोध किया. इस हमले की जिम्मेदारी हूती विद्रोहियों ने ली थी. पाकिस्तान एवं कुछ अन्य देश ईरान तथा सऊदी अरब के बीच मध्यस्थता की कोशिश कर रहे हैं.

‘डॉन’ की खबर के अनुसार इस्लामाबाद पॉलिसी इंस्टीट्यूट (IPI) की मेजबानी में आयोजित एक गोलमेज सम्मेलन में ‘फारस की खाड़ी में मध्यस्थता: पहल, रणनीति और बाधाएं’ विषय पर पूर्व विदेश सचिव एजाज चौधरी ने कहा कि ऐसी भूमिका के लिये पाकिस्तान की साख मजबूत है, लेकिन उसी वक्त गहरे अविश्वास, ईरान के बढ़ते प्रभाव को लेकर सऊदी की आशंकाएं तथा क्षेत्रीय शक्ति प्रदर्शन सहित कई चुनौतियां भी हैं.

यह भी पढ़ें: इमरान खान को सत्ता से बाहर होने का सता रहा डर, बोले-बातचीत का रास्ता खोजो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 10:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...