इमरान खान ने इशारों में कहा- रेप के लिए महिलाओं के कपड़े जिम्मेदार, पूर्व पत्नी ने याद दिलाईं कुरान की आयतें

इमरान खान  . (फाइल फोटो)

इमरान खान . (फाइल फोटो)

पाक के पीएम इमरान खान ने कहा कि इस्लाम में पर्दे की व्यवस्था इसलिए है ताकि महिलाओं को लोगों की बुरी नजरों से बचाया जा सके.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने हाल ही में एक ऐसा बयान दिया है जिसके बाद पड़ोसी मुल्क में महिला अधिकार संगठनों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया. इतना ही नहीं अब उनकी पूर्व पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट किया है. बीते हफ्ते लाइव टेलीविज़न पर एक इंटरव्यू में, ऑक्सफोर्ड से पढ़ाई कर चुके खान ने कहा कि, 'समाज में बढ़ रही अश्लीलता के परिणास्वरूप' रेप के मामले बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा, 'महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं वास्तव में समाज में बहुत तेजी से बढ़ी हैं.' उन्होंने महिलाओं को सलाह दी कि वह खुद को पर्दे में रखें.

खान ने कहा, 'इस्लाम में पर्दे की व्यवस्था इसलिए है ताकि महिलाओं को लोगों की बुरी नजरों से बचाया जा सके.' इंटरव्यू के दौरान टीवी पर एक शख्स ने इमरान से पूछा कि देश में बच्चों और महिलाओं पर बढ़ रही यौन हिंसा को रोकने के लिए उनकी पार्टी की सरकार क्या कर रही है. इस पर इमरान ने कहा कि कुछ मुद्दों का हल कानून के रास्ते नहीं हो सकता है. समाज को खुद अश्लीलता से बचना होगा. रेप और यौन हिंसा का अपराध समाज में कैंसर की तरह फैल रहा है.

इमरान की पूर्व पत्नी ने क्या कहा?
इमरान के इस बयान पर जेमिमा ने टिप्पणी में कहा, 'जिम्मेदारी मर्दों पर है.' उन्होंने लिखा, 'ऐसे जुर्म रोकने का जिम्मा पुरुषों पर है.' उन्होंने कुरान की उस आयत का भी जिक्र किया जिसमें पुरुषों से निजी अंगों पर काबू रखने की बात कही गई है.
IMRAN KHAN



खान के बयान पर सैकड़ों लोगों ने ऑनलाइन बुधवार को एक बयान पर हस्ताक्षर करते हुए पाक पीएम की टिप्पणियों को 'तथ्यात्मक रूप से गलत, असंवेदनशील और खतरनाक' करार दिया. पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग, एक स्वतंत्र अधिकार प्रहरी ने कहा कि मंगलवार को इमरान खान की टिप्पणियों से लोग 'भयभीत' हैं. संस्था ने एक बयान में दावा किया कि पाक पीएम की टिप्पणी रेप पीड़िताओं को ही आरोपी के तौर पर दिखाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज