पाकिस्तान पीएम इमरान खान ने कहा- सऊदी अरब से हमारे संबंध अब भी अच्छे हैं

पाकिस्तान पीएम इमरान खान ने कहा- सऊदी अरब से हमारे संबंध अब भी अच्छे हैं
पाकिस्तान पीएम इमरान ने कहा सऊदी अरब से संबंध खराब होने की बात अफवाह (File Photo)

पाकिस्तान सेना प्रमुख द्वारा रियाद का दौरा करने के बाद प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने यह बयान दिया कि दोनों देशों के संबंध अभी भी बहुत अच्छे हैं और हम एक दूसरे के सपंर्क में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2020, 11:13 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Pakistan PM Imran Khan) ने लंबे समय से सहयोगी रहे सऊदी अरब (Saudi Arab) के साथ हाल में पैदा हुए मतभेदों (Difrences) को कम करने की दिशा में कदम बढ़ाया है. अपने सेना प्रमुख द्वारा रियाद का दौरा करने के बाद इमरान ने यह बयान दिया कि दोनों देशों के संबंध अभी भी बहुत अच्छे हैं और हम एक दूसरे के सपंर्क में है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर के विवादित हिमालयी क्षेत्र के प्रति नीति पर विवाद को शांत करने के लिए अपने सेना प्रमुख द्वारा रियाद का दौरा करने के बाद लंबे समय से सहयोगी सऊदी अरब के साथ मतभेदों को कम करने की एक पहल की है.

'पाकिस्तान और सऊदी अरब के बीच कोई मतभेद नहीं'

भारत शासित कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन के मुद्दे पर पकिस्तान ने सऊदी अरब से लाइन की मांग के कारण यह विवाद पैदा हुआ था समर्थन दी थी. पाकिस्तानी प्रधान मंत्री इमरान खान ने मंगलवार को एक साक्षात्कार में कहा कि पाकिस्तान और सऊदी अरब के बीच कोई मतभेद नहीं है. ऐसा कहकर प्रधानमंत्री इमरान खान इस महीने अपने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी द्वारा दिए उस बयान से पीछे हटे जिसमें शाह ने सऊदी अरब पर कश्मीर मुद्दे पर उदासीन होने का आरोप लगाया था.



'सऊदी अरब के साथ हमारे संबंधों में खटास की बात अफवाह'
दून न्यूज टेलीविजन चैनल को दिए एक साक्षात्कार में खान ने कहा कि यह सिर्फ अफवाह है कि सऊदी अरब के साथ हमारे संबंधों में खटास आई है.यह बात पूरी तरह से झूठी है. हमारे संबंध बहुत अच्छे हैं और हम लगातार संपर्क में हैं.



पाकिस्तानी सेना प्रमुख ने किया सऊदी अरब का दौरा

पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने सोमवार को सऊदी अरब की एक दिन की यात्रा की जो मुख्य रूप से सैन्य-मामलों से जुडी थी. पाकिस्तानी सेना प्रमुख ने दोनों देशों के बीच संबंधों में गहरी असहमति के बीच यह यात्रा की. पाकिस्तान के कई सैन्य और सरकारी अधिकारियों ने कहा कि इस यात्रा का उद्देश्य दोनों देशों के बीच बढ़ी हुई कटुता को कम करना था. इस विवाद के कारण पाकिस्तान के विदेशी भंडार में नकदी की तंगी हो सकती है.

सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 3 बिलियन डॉलर कर्ज दिया

सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 3bn डॉलर का ऋण दिया और 2018 के अंत में पेमेंट क्राइसिस के संतुलन में मदद करने के लिए $3.2bn तेल क्रेडिट की सुविधा भी दी थी.सैन्य और वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने रॉयटर्स को बताया है कि पकिस्तान की सऊदी अरब से कश्मीर मुद्दे पर भारत के खिलाफ पकिस्तान को समर्थन देने की मांग के चलते सऊदी अरब ने पकिस्तान को $1 बिलियन डॉलर का भुगतान जल्दी करने के लिए कहा है.

ये भी पढ़ें: ट्रंप और बाइडेन हिंदू वोट हासिल करने में जुटे, दोनों ही पार्टी कर रही हैं धार्मिक वादे

राष्ट्रपति को शक्तिशाली बनाने के लिए संविधान में संशोधन को तैयार श्रीलंका सरकार  

सऊदी अरब पकिस्तान से एक अरब डॉलर का ऋण चुकाने की बात कर रहा है और अभी तक उसने पकिस्तान के तेल सुविधा बढ़ाने के अनुरोधों का कोई जवाब नहीं दिया है. विश्लेषकों का कहना है कि सऊदी अरब कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान का समर्थन करने के चलते भारत में अपने व्यापारिक हितों को खतरे में नहीं डालना चाहता.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज