लाइव टीवी
Elec-widget

इलाज के लिए ब्रिटेन नहीं जा पा रहे नवाज शरीफ, पार्टी बोली, 'सेहत पर बढ़ रहा खतरा'

भाषा
Updated: November 11, 2019, 3:10 PM IST
इलाज के लिए ब्रिटेन नहीं जा पा रहे नवाज शरीफ, पार्टी बोली, 'सेहत पर बढ़ रहा खतरा'
नवाज शरीफ को इलाज के लिए लंदन जाना है. वह आठ हफ्ते की जमानत पर चल रहे हैं.

PML-N प्रमुख और पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) डॉक्टरों की सलाह व अपने परिवार की दरख्वास्त को मानते हुए ब्रिटेन (Britain) में इलाज कराने के लिए शुक्रवार को राजी हो गए.

  • Share this:
लाहौर. बीमार चल रहे पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की पार्टी ने कहा है कि विदेश में इलाज कराने के लिए उनकी यात्रा में हो रही देरी के कारण उनकी सेहत (Health) पर खतरा बढ़ रहा है. दरअसल, शरीफ ‘उड़ान प्रतिबंध’ सूची से अपना नाम हटाए जाने का इंतजार कर रहे हैं.

इलाज कराने को हुए राजी
पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के 69 वर्षीय प्रमुख डॉक्टरों की सलाह और अपने परिवार की दरख्वास्त को मानते हुए ब्रिटेन (Britain) में इलाज कराने के लिए शुक्रवार को राजी हो गए. उन्हें रविवार को सुबह पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के विमान से लंदन जाना था.

उड़ान प्रतिबंध सूची में शामिल है नाम

शरीफ अस्थिर प्लेटेलेट काउंट समेत कई बीमारियों से ग्रस्त हैं और उनकी अभी लाहौर में उनके आवास पर देखरेख की जा रहा रही है जहां एक आईसीयू बनाया गया है. सरकार ने अभी ‘उड़ान प्रतिबंध सूची’ (एक्जिट कंट्रोल लिस्ट-ईसीएल) से शरीफ का नाम नहीं हटाया है क्योंकि राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो के अध्यक्ष जावेद इकबाल इस मामले में अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए उपलब्ध नहीं हैं.

नवाज शरीफ को बेटी मरियम के साथ लंदन जाना है.


'विदेश ले जाना बेहद जरूरी'
Loading...

पीएमएल-एन की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने ट्वीट किया कि डॉक्टरों के अनुसार, शरीफ के विदेश जाने की प्रक्रिया में तेजी लाने की जरूरत है. औरंगजेब ने कहा कि डॉक्टरों ने पूर्व प्रधानमंत्री को विदेश की यात्रा करने के लिए तैयार करने के वास्ते स्टेरॉयड्स की भारी खुराक दी है. उन्होंने कहा कि किसी आपात स्थिति में इलाज के लिए शरीफ को विदेश ले जाना लगभग मुश्किल होगा.

'नहीं दी जा सकती स्‍टेरॉयड की भारी खुराक'
जियो न्यूज ने औरंगजेब के हवाले से कहा, 'नवाज शरीफ के विदेश जाकर इलाज कराने में देरी हो रही है क्योंकि ईसीएल से उनका नाम हटाने में विलंब हो रहा है. डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें बार-बार स्टेरॉयड्स की भारी खुराक नहीं दी जा सकती.' उन्होंने कहा, 'डॉक्टरों ने कहा है कि शरीफ को फौरन विदेश ले जाने की जरूरत है. उनकी यात्रा में देरी से उनकी सेहत पर खतरा बढ़ रहा है.'

डॉक्‍टर पूरी कोशिश कर रहे हैं
मरियम औरंगजेब ने बताया कि डॉक्टर पूर्व प्रधानमंत्री का प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे हैं ताकि जब वह यात्रा करें तो उनकी तबीयत न बिगड़े. सरकार की प्रवक्ता फिरदौस आशिक अवान ने कहा कि शरीफ का नाम ईसीएल से हटाने का फैसला एनएबी और डॉक्टरों की सिफारिशों के बाद लिया जाएगा.

बोर्ड की सिफारिश की जरूरत
अवान ने कहा, 'एनएबी और अदालत की अनुशंसाओं पर ईसीएल में नाम डाला जाता है. अब नाम हटाने की अर्जी दी गयी है तो इसी प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है.' अवान ने बताया कि देरी इस वजह से हो रही है कि सरकार को सरकारी डॉक्टरों के बोर्ड की सिफारिशों की जरूरत है न कि शरीफ के निजी डॉक्टरों की. उन्होंने कहा कि सरकार को जल्द ही एनएबी की सिफारिशें मिलने की उम्मीद है और इसके बाद फैसला लिया जाएगा.

प्‍लेटलेट्स हो गए थे बेहद कम
पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री यास्मीन राशिद ने लाहौर में मीडिया को बताया कि शरीफ की सेहत के बारे में गृह मंत्रालय के पत्र में जवाब में एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने के लिए सोमवार को विशेष चिकित्सा बोर्ड की बैठक होगी. शनिवार को शरीफ का प्लेटेलेट काउंट 20,000 था.

शरीफ को बुधवार छह नवंबर को लाहौर में उनके जट्टी उमरा रायविंड स्थित आवास ले जाया गया था. वह दो सप्ताह तक कई बीमारियों के इलाज के लिए पाकिस्तान के एक अस्पताल में भर्ती रहे थे. शरीफ का प्लेटलेट काउंट अत्यधिक कम हो गया था जिसके बाद उन्हें 22 अक्टूबर को सर्विसेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

यह भी पढ़ें: 'नो फ्लाइट' लिस्ट में नाम होने की वजह से नवाज शरीफ के लंदन जाने पर असमंजस्य

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 3:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com