पाकिस्तान के PM इमरान खान को उम्मीद, लोकसभा चुनाव के बाद भारत से सुधरेंगे रिश्ते

इमरान खान ने कहा कि क्षेत्र में शांति और स्थिरता बनाए रखना बेहद अहम हैं. इसी के बाद पड़ोसी देश से संबंध सुधारे जा सकते हैं.

News18Hindi
Updated: April 27, 2019, 7:22 PM IST
पाकिस्तान के PM इमरान खान को उम्मीद, लोकसभा चुनाव के बाद भारत से सुधरेंगे रिश्ते
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान
News18Hindi
Updated: April 27, 2019, 7:22 PM IST
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने उम्मीद जताई है कि भारत में हो रहे लोकसभा चुनावों के बाद दोनों ही देशों के रिश्तों में सुधार होगा. इमरान खान ने कहा कि क्षेत्र में शांति और स्थिरता बनाए रखना बेहद अहम हैं. इसी के बाद पड़ोसी देश से संबंध सुधारे जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि जब तक इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता नहीं है, पाकिस्तान के लिए आर्थिक समृद्धि मुश्किल है. पाकिस्तान सरकार इस मसले पर लगातार काम कर रही है. इमरान खान ने ये बातें चीन में बेल्ट एंड रोड फोरम में कहीं.

उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में अगर थोड़ी भी हरकत होती है तो उसका असर पाकिस्तान के बॉर्डर एरिया पर पड़ता है. हमारी कोशिश है कि इस इलाके में शांति बनाने में कामयाब हों. हमारे ईरान के साथ अच्छे संबंध हैं और हम उन्हें लगातार मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा, अभी एकमात्र समस्या भारत के साथ हमारे संबंध हैं, लेकिन हम उम्मीद कर रहे हैं कि भारतीय चुनावों के बाद हम फिर से भारत के साथ एक सभ्य संबंध बनाने की उम्मीद करेंगे.



इसे भी पढ़ें :- इमरान की ईरान में फिसली जुबान, जर्मनी को बताया जापान का पड़ोसी देश

BRF की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पहली बार भारत और पाकिस्तान के रिश्तों के बारे में खुलकर बात की है. गौरतलब है कि 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 40 भारतीय जवान मारे गए थे. इस हमले के बाद से पाकिस्तान और भारत के बीच रिश्ते तनावपूर्ण चल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :- इमरान खान के बयान पर विपक्ष हमलावर, मोदी से पूछा- अब बताओ टुकड़े-टुकड़े गैंग कौन है?

बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कुछ दिनों पहले पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि बीजेपी की सरकार बनने पर कश्मीर मुद्दे पर कोई रास्ता निकल सकता है. उन्होंने कहा था, 'अगर बीजेपी की सरकार बनती है तो कश्मीर मुद्दे पर कोई रास्ता निकल सकता है और अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो इस मुद्दे पर कोई समझौता हो पाना मुश्किल होगा.'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...