Home /News /world /

अमेरिका को अफगानिस्तान में हमलों के लिए एयरस्पेस नहीं देगा पाकिस्तान, खबरों को किया खंडन

अमेरिका को अफगानिस्तान में हमलों के लिए एयरस्पेस नहीं देगा पाकिस्तान, खबरों को किया खंडन

अफगानिस्तान में सैन्य उपस्थिति बनाने के लिए अमेरिका पाकिस्तान के साथ ही उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान आदि देशों को भी विकल्प मान रहा है.

अफगानिस्तान में सैन्य उपस्थिति बनाने के लिए अमेरिका पाकिस्तान के साथ ही उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान आदि देशों को भी विकल्प मान रहा है.

Pakistan and America Relations: पाकिस्तान सरकार के प्रवक्ता असीम इफ्तिखार अहमद ने अमेरिका के अफगानिस्तान में सैन्य और खुफिया अभियानों के संचालन के लिए पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल के लिए औपचारिक समझौते पर कहा कि ऐसी कोई बातचीत नहीं हो रही है.

अधिक पढ़ें ...

    काबुल. पाकिस्तान (Pakistan) ने उस रिपोर्ट का खंडन किया है जिसमें दावा किया गया है कि वह अफगानिस्तान (Afghanistan) में सैन्य अभियान चलाने के लिए अमेरिका (America) द्वारा पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल के लिए बातचीत की जा रही है. स्थानीय मीडिया से बातचीत करते हुए पाकिस्तान सरकार के प्रवक्ता असीम इफ्तिखार अहमद ने अमेरिका के अफगानिस्तान में सैन्य और खुफिया अभियानों के संचालन के लिए पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल के लिए औपचारिक समझौते पर कहा कि ऐसी कोई बातचीत नहीं हो रही है.

    अहमद ने इस बात पर भी जोर दिया कि वॉशिंगटन और इस्लामाबाद के बीच क्षेत्रीय सुरक्षा और आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए लंबे समय से सहयोग के लिए बातचीत चल रही है. उन्होंने कहा कि दोनों ही पक्ष एक-दूसरे के साथ क्षेत्रीय सुरक्षा पर परामर्श करने में लगे हुए हैं. जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले खबर आई थी कि पाकिस्तान ने आंतक विरोधी कोशिशों और भारत के साथ संबंधों के बदले एक समझौता ज्ञापन पर साइन करने की इच्छा जताई है. लेकिन बातचीत अभी पूरी नहीं हुई है. समझौते को अभी अंतिम रूप भी नहीं दिया गया है, उसमें बदलाव किया जा सकता है.

    दरअसल, अफगानिस्तान में सैन्य उपस्थिति बनाने के लिए अमेरिका पाकिस्तान के साथ ही उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान आदि देशों को भी विकल्प मान रहा है. लेकिन ये देश रूस को नाराज नहीं करना चाहते हैं. मौजूदा वक्त में अमेरिका मिडिल ईस्ट के ठिकानों से अफगानिस्तान के लिए उड़ान भरने को मजबूर है. यही कारण है कि जो बाइडेन सरकार अधिक प्रभावी विकल्प की तलाश कर रहे हैं.

    अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन पहले ही कह चुके हैं कि अमेरिका अफगानिस्तान में आतंक विरोधी क्षमता बनाए रखेगा. अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी पर बाइडेन ने कहा था कि भले ही अमेरिकी सैनिक अब अफगानिस्तान की जमीन पर न हों लेकिन अमेरिका अफगानिस्तान में काम करने की अपनी क्षमता को बनाए रखेगा.

    Tags: America, Copa america, Pakistan, Pakistan army, Pakistan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर