• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • ISI के पूर्व प्रमुख बोले- 'पाकिस्तान को सही कीमत पर कुलभूषण जाधव को वापस करना था'

ISI के पूर्व प्रमुख बोले- 'पाकिस्तान को सही कीमत पर कुलभूषण जाधव को वापस करना था'

 कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना के रिटायर्ड ऑफिसर हैं जिन्हें कथित जासूसी के आरोप में मार्च 2016 में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था.

कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना के रिटायर्ड ऑफिसर हैं जिन्हें कथित जासूसी के आरोप में मार्च 2016 में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था.

कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना के रिटायर्ड ऑफिसर हैं जिन्हें कथित जासूसी के आरोप में मार्च 2016 में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था.

  • Share this:
    पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख असद दुर्रानी का कहना है कि पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव के केस को सही तरीके से सुलझाने की कोशिश नहीं की गई. असद दुर्रानी के मुताबिक पाकिस्तान को सही कीमत पर कुलभूषण जाधव को भारत वापस कर देना चाहिए था. असद दुर्रानी ने ये बातें खुफिया एजेंसियों और उनके कारनामों पर आधारित किताब 'Spy Chronicles RAW, ISI and the Illusion of Peace' में लिखी है.

    दुर्रानी ने लिखा है ''इस मुद्दे पर शांत रहने की जरूरत थी. वास्तव में इसका गुडविल के लिए इस्तेमाल किया जा सकता था. पाकिस्तान के नेशनल सेक्यूरिटी एडवाइज़र जंजुआ को अजीत डोवाल को फोन करना था और कहना था, हमें आपका एक नागरिक मिला है लेकिन आप चिंता न करें. उसका ख्याल रखा जाएगा. इस बीच आप हमें ये बताइए कि इसके साथ क्या किया जाए.''

    इस किताब ने दुर्रानी और भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के पूर्व प्रमुख एएस दुलत की बातचीत छापी है. किताब के लिए हुई इस बातचीत को पत्रकार आदित्य सिन्हा ने मॉडरेट किया है.

    एक और चैप्टर में, दुलट जाधव पर बातचीत जारी रखते हैं और कहते हैं कि जाधव को पाकिस्तान से बाहर निकालना अमेरिका के मुकाबले ज्यादा आसान था.

    इसके जवाब में दुर्रानी ने कहा, "मैं अपने दोस्त से सहमत हूं कि इस केस को खराब तरीके से हैंडल करने के बावजूद जाधव वापस आ जाएंगे. बेहतर तरीका ये होता कि इसकी जानकी रॉ को देनी चाहिए थी और सही कीमत पर उसे भारत को सौंप देना चाहिए था.''

    आपको बता दें कि कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना के रिटायर्ड ऑफिसर हैं जिन्हें कथित जासूसी के आरोप में मार्च 2016 में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था. दूसरी ओर भारत इस आरोप से लगातार इनकार करता रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज