अपना शहर चुनें

States

इमरान खान की सफाई: मोदी के लिए नहीं था 'छोटे लोग-बड़े दफ्तर' वाला ट्वीट

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PTI)
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PTI)

इमरान खान ने गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना उनपर तंज कसे. इमरान ने ट्वीट किया, 'बड़े दफ्तरों में बैठे छोटे लोगों की वजह से कई समस्याएं बढ़ती हैं. क्योंकि, इन लोगों के पास वो विजन नहीं होता'

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2018, 10:41 AM IST
  • Share this:
न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर विदेश मंत्रियों की प्रस्तावित मुलाकात रद्द किए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. लिहाजा उसके प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री समेत अन्य बारी-बारी से भारत के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना उनपर तंज कसे. इमरान ने ट्वीट किया, 'बड़े दफ्तरों में बैठे छोटे लोगों की वजह से कई समस्याएं बढ़ती हैं. क्योंकि, इन लोगों के पास वो विजन नहीं होता कि वो स्तर पर चीजों को देख सकें.'

हालांकि, इस ट्वीट पर विवाद होने के बाद इमरान खान ने तुरंत सफाई भी दे डाली. पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि 'छोटे लोग, बड़े दफ्तर' वाला विवादित ट्वीट भारत के प्रधानमंत्री के लिए नहीं था. हालांकि, इमरान खान ने यह भी नहीं बताया कि उनका यह ट्वीट किसके लिए था. यही नहीं, इमरान खान ने बार-बार कहा कि हमें पुरानी बातों को भुलाकर आगे बढ़ना चाहिए. आतंकवाद के सवाल पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से आतंकवाद भारत के ही नहीं किसी और देश के खिलाफ होना भी ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि जब फ्रांस और जर्मनी बिना लड़े रह सकते हैं, तो भारत-पाकिस्तान क्यों नहीं?

(ये भी पढ़ें- सिखों के लिए इतना खास क्यों है करतारपुर साहिब?)



क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान ने भारत पर उस समय तीखे प्रहार किए थे, जब सितंबर में संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच एक बैठक को रद्द करने का भारत ने फैसला किया था. एक और आतंकवादी हमले के बाद भारत ने इस बैठक को रद्द कर दिया था.
सार्क समिट: भारत ने ठुकराया पाक का न्योता, सुषमा बोलीं- करतारपुर कॉरिडोर का मतलब बातचीत की शुरुआत नहीं

इसके बाद इमरान खान का ट्वीट आया था 'शांति वार्ता के लिए पेशकश पर भारत की नकारात्मक प्रतिक्रिया से निराश हूं. मैं अपनी पूरी जिंदगी बड़े दफ्तर में बैठे ऐसे छोटे लोगों को देखता आया हूं, जिनके पास दूरदर्शिता नहीं है.' हालांकि, भारत ने इस पर किसी भी तरह की कोई टिप्पणी नहीं की.


बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पाकिस्तान इन दिनों भारत के खिलाफ बयानबाजी कर रहा है. भारत ने दूसरी बार पाकिस्तान में सार्क शिखर सम्मेलन में भाग लेने से इनकार कर दिया. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच संवाद सिर्फ करतारपुर गलियारे से जुड़ा नहीं है. जब पाकिस्तान भारत में आतंकवादी गतिविधियों को रोकेगा, वार्ता तभी शुरू हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज