लाइव टीवी

आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान ने बना डाला अनोखा रिकॉर्ड

News18Hindi
Updated: October 9, 2019, 10:01 AM IST
आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान ने बना डाला अनोखा रिकॉर्ड
इमरान खान सरकार ने एक साल के कार्यकाल में रिकॉर्ड कर्ज लिया है.

पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान खान (Imran khan) सरकार ने एक साल के कार्यकाल के दौरान देश के कुल कर्ज में 7509 अरब (पाकिस्तानी) रुपये की वृद्धि हुई है. पाकिस्तानी मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक कर्ज (debt) का ये आंकड़ा इतना बढ़ गया है कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (State Bank of Pakistan) ने कर्ज से जुड़े इन आंकड़ों की जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजवा दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 10:01 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) के आर्थिक (Economic recession) हालात दिनों-दिन और खराब होते जा रहे हैं. रोजमर्रा की चीजों के बढ़ते दाम ने पाकिस्तान की कमर तोड़ दी है. इमरान खान (Imran khan) के सत्ता के आने के एक साल बाद ही पाकिस्तान की ऐसी हालत हो गई है, जिसकी किसी ने उम्मीद भी नहीं की थी. हालात ये हो चुके हैं कि कोई भी देश उसका साथ देने को तैयार नहीं है. आर्थिक कंगाली (Economy Crisis) से जूझ रहा पाकिस्तान दुनिया (world) के सामने मदद की गुहार लगा रहा है. पाकिस्तान की इसी कमजोर हालत ने जाने-अनजाने में एक ऐसा रिकॉर्ड (Record) बना दिया है, जिसके बारे में उसने सोचा भी नहीं था. दरअसल इमरान खान सरकार ने एक साल के कार्यकाल में रिकॉर्ड कर्ज ले लिया है.

अभी तक के आंकड़ों के मुताबिक इमरान खान सरकार ने एक साल के कार्यकाल के दौरान देश के कुल कर्ज में 7509 अरब (पाकिस्तानी) रुपये की वृद्धि हुई है. पाकिस्तानी मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक कर्ज का ये आंकड़ा इतना बढ़ गया है कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने कर्ज से जुड़े इन आंकड़ों की जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय को भिजवा दी है. स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के मुताबिक अगस्त 2018 से अगस्त 2019 के बीच पाकिस्तान ने 2804 अरब रुपये का कर्ज लिया है, जबकि घरेलू बैंकों से 4705 अरब रुपये का कर्ज लिया गया है.

Pakistan, economic recession, imran khan, world, record, debt
इमरान खान सरकार ने एक साल के कार्यकाल के दौरान देश के कुल कर्ज में 7509 अरब (पाकिस्तानी) रुपये की वृद्धि हुई है.


स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले दो महीने में पाकिस्तान की आर्थिक हालत सबसे ज्यादा खराब हुई है. दो महीनों के अंदर पाकिस्तान के कर्ज में 1.43 फीसदी का इजाफा हुआ है. पाकिस्तान के ऊपर मौजूदा कर्ज की बात करें तो यह बढ़कर 32,240 अरब रुपये है. अगस्त 2018 में यह कर्ज 24,732 अरब रुपये था.

पाकिस्तान में 10% पर पहुंची महंगाई
दिनों दिन डॉलर के मुकाबले कमजोर होते पाकिस्‍तानी रुपये का ही नतीजा है कि मार्च में पाकिस्‍तान में महंगाई दर पिछले पांच साल के शीर्ष स्‍तर 9.41 फीसदी पर पहुंच गई थी. अप्रैल में यह 8.8 फीसदी दर्ज की गई.

Pakistan, economic recession, imran khan, world, record, debt
दो महीनों के अंदर पाकिस्तान के कर्ज में 1.43 फीसदी का इजाफा हुआ है.

Loading...

खाना-पीना हुआ महंगा
पाकिस्तान की खराब आर्थिक स्थिति का असर दिखने लगा है. पाकिस्तान में दूध के दाम 180 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बिक रहा था. वहीं सेब 400 रुपये किलो, संतरे 360 रुपये और केले 150 रुपये दर्जन बिकने लगे हैं. पाकिस्तान में मटन 1100 रुपये किलो हो गया है. मार्च के मुकाबले मई में प्याज 40%, टमाटर 19 % और मूंग की दाल 13% ज्यादा कीमत पर बिकी हैं तो गुड़, शक्कर, फल्लियां, मछली, मसाले, घी, चावल, आटा, तेल, चाय, गेंहू की कीमतें 10% तक बढ़ गई हैं.

इसे भी पढ़ें :- पाकिस्तान को मिल तो गई मदद, पर कमर तोड़ देंगी IMF की ये शर्तें!

प्रति व्यक्ति आय घटी
प्रति व्यक्ति आय भी प्रति वर्ष 1,652 डॉलर के घटकर 1,497.3 डॉलर पर आ गई है. आर्थिक सर्वे के अनुसार पाकिस्तान में विषमता की खाई भी और गहरी हुई है. पाकिस्तान के आर्थिक सलाहकार ने कहा है कि पाकिस्तान क़रीब 100 अरब डॉलर का विदेशी क़र्ज़ वापस करने की स्थिति में नहीं है.

इसे भी पढ़ें :- पाकिस्तानियों का और बुरा हाल! एक ब्रेड का पैकेट खरीदने के लिए चुकाने होंगे बोरियों में पैसे

दुनिया में सबसे ज्यादा कमजोर पाकिस्तानी रुपया
पाकिस्तानी रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अब तक के निचले स्तर पर आ गया है. एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया 152 के स्तर पर पहुंच गया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 9:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...