लाइव टीवी

फिर बेनकाब हुआ पाकिस्तान, 26/11 के मास्टरमाइंड हाफिज़ सईद को लाहौर कोर्ट ने दी राहत

Shailendra Wangu | News18Hindi
Updated: October 7, 2019, 5:03 PM IST
फिर बेनकाब हुआ पाकिस्तान, 26/11 के मास्टरमाइंड हाफिज़ सईद को लाहौर कोर्ट ने दी राहत
हाल ही में लाहौर हाईकोर्ट (Lahore Highcourt) ने हाफिज सईद (Hafiz Saeed) से जुड़े मामलों को गुजरांवाला से लाहौर शिफ्ट किया था. इससे पहले कोर्ट ने हाफिज सईद के मामले पर सुनवाई करने वाले जजों को बदल दिया था.

हाल ही में लाहौर हाईकोर्ट (Lahore Highcourt) ने हाफिज सईद (Hafiz Saeed) से जुड़े मामलों को गुजरांवाला से लाहौर शिफ्ट किया था. इससे पहले कोर्ट ने हाफिज सईद के मामले पर सुनवाई करने वाले जजों को बदल दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 5:03 PM IST
  • Share this:
लाहौर. 26/11 के मास्टरमाइंड हाफिज़ सईद (Hafiz Saeed) को लाहौर कोर्ट (Lahore Court) से राहत मिल गई है. टेरर फंडिंग (Terror Funding) के 24 मामलों से सईद को अलग करने की अर्जी मंज़ूर हो गई है. हाईकोर्ट ने अर्ज़ी पर पंजाब, CTD से रिपोर्ट मांगी है. कोर्ट ने 28 अक्टूबर तक ये रिपोर्ट देने के निर्देश जारी किए हैं.

इससे पहले लाहौर हाईकोर्ट ने 30 सितंबर को हाफिज सईद की याचिका पर सुनवाई करते हुए उसके खिलाफ चल रहे एक मामले को गुजरांवाला आतंकवाद रोधी कोर्ट से लाहौर ट्रांसफर कर दिया था. सईद ने अपनी याचिका में कहा था कि उसे लाहौर जेल में रखा गया है और हर सुनवाई के लिए उसे गुजरांवाला लाया जाता है.

सुरक्षा कारणों से पहले बदलवाई थी अदालत
उसने अपना मामला ट्रांसफर कराने के लिए अपनी खराब सेहत और सुरक्षा का हवाला दिया था. ऐसे में उसने निवेदन किया था कि अगर उसे लाहौर की जेल में रखा जा रहा है तो मामला भी वहीं ट्रांसफर कर दिया जाना चाहिए. बता दें इससे पहले हाफिज सईद के मामले की सुनवाई कर रहे दो जजों की बेंच को भी बदल दिया गया था.

पाकिस्तान ने आतंक पर नहीं लिया कोई एक्शन
एशिया पैसेफिक ग्रुप (एपीजी) की एक रिपोर्ट के मुताबिक फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (Financial Action Task Force) ने पाकिस्तान को ‘ग्रे लिस्ट’ में शामिल करते वक्त जो 40 अनुशंसाएं की थीं उनमें से उसने सिर्फ एक का पालन किया है और वहां मनी लॉन्ड्रिंग और आतंक के वित्त पोषण का काफी जोखिम है.

‘ग्रे लिस्ट’ में पाकिस्तान को बरकरार या बाहर रखने पर फैसले को लेकर होने वाली एफएटीएफ की महत्वपूर्ण बैठक से दस दिन पहले शनिवार को एपीजी ने 228 पन्नों वाली यह बहुप्रतीक्षित ‘परस्पर मूल्यांकन रिपोर्ट’ जारी की है.
Loading...

ये भी पढ़ें-

इमरान का विमान नहीं हुआ था खराब, नाराज सऊदी प्रिंस ने बुला लिया था वापस
सदाबहार दोस्त शी की शरण में इमरान खान, CPEC प्रोजेक्ट पर करेंगे वार्ता
नेपाली संसद के पूर्व स्पीकर कृष्ण बहादुर महरा बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 3:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...