फर्जी पायलट लाइसेंस कांड ने खोली पाकिस्तान की पोल, अब UAE ने पूछा सवाल

फर्जी पायलट लाइसेंस कांड ने खोली पाकिस्तान की पोल, अब UAE ने पूछा सवाल
फर्जी लाइसेंस के मामले में पाकिस्तान ने अपने 262 पायलटों पर बैन लगा दिया है. (AP)

संयुक्त अरब अमीरात(UAE) ने इस मामले में पाकिस्तान (Pakistan) को चिट्ठी लिखी है. इसमें ऐसे पायलटों की लाइसेंस की जांच की मांग की है, जिन्हें यूएई का लाइसेंस है और ये लाइसेंस पाकिस्तान की तरफ से जारी लाइसेंस के आधार पर दिया गया है.

  • Share this:
दुबई. पाकिस्तान (Pakistan) को एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शर्मिंदगी झेलनी पड़ी है. यूरोपियन यूनियन एयर सेफ्टी एजेंसी (EASA) ने पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) को यूरोपीय संघ में फर्जी पायलट लाइसेंस स्कैम के कारण छह महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है. वहीं, अब संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने भी पाकिस्तान ने फर्जी पायलटों के मामले में जानकारी मांगी है. इसके आधार पर UAE आगे एक्शन लेगा.

संयुक्त अरब अमीरात ने इस मामले में पाकिस्तान को चिट्ठी लिखी है. इसमें ऐसे पायलटों की लाइसेंस की जांच की मांग की है, जिन्हें यूएई का लाइसेंस है और ये लाइसेंस पाकिस्तान की तरफ से जारी लाइसेंस के आधार पर दिया गया है. चिट्ठी में फर्जी और संदिग्थ मामलों के बीच फर्क बताने को भी कहा गया है. बताया जा रहा है कि ऐसे पायलटों के खिलाफ संयुक्त अरब अमीरात कोई बड़ी कार्रवाई कर सकता है.

वहीं, दूसरी और न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक वियतनाम की एविएशन ऑथोरिटी ने भी पाकिस्तानी पायलटों की उड़ान पर रोक लगा दी है. इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के मुताबिक, पाकिस्तान के पायलटों के फर्जी लाइसेंस सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकता है.



ये भी पढ़ें:- कार खरीद के मामले में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जरदारी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी



इसके पहले यूरोपियन यूनियन एयर सेफ्टी एजेंसी (EASA) की ओर से 6 महीने के लिए प्रतिबंधित किए जाने के बाद पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) ने बयान जारी किया था. PIA ने कहा था कि EASA ने 1 जुलाई, 2020 से अगले 6 महीने के लिए यूरोपीय संघ के सदस्य देशों में संचालित करने के लिए PIA की अनुमति को निलंबित कर दिया है.

एक खबर के मुताबिक, फर्जी लाइसेंस के मामले में पाकिस्तान ने अपने 262 पायलटों पर बैन लगा दिया है. इसको लेकर खुद पाकिस्तान को अपने पायलटों पर संदेह है कि या तो उनके पास फर्जी लाइसेंस है या फिर उन्होंने धोखाधड़ी से लाइसेंस हासिल किया है. पाकिस्तान के उड्ड्यन मंत्री गुलाम सरवर खान के मुताबिक लगभग एक तिहाई पायलटों को विमान उड़ाने से रोक दिया गया है. इनमें पीआईए के 141, एयर ब्लू के 9, सेरेने एयरलाइन के 10 और शाहीन एयरलाइंस के 17 पायलट शामिल हैं. बता दें कि इनमें 109 कमर्शल विमान /पायलट हैं और 153 एयरलाइन ट्रांसपोर्ट पायलट है.

ये भी पढ़ें:- भारत में 59 ऐप्स बैन होने पर चीन ने जताई चिंता, कहा- पूरे मामले की ले रहे हैं जानकारी
वित्तीय संकट से जूझ रही पाकिस्तान इंटरनेशनल एअरलाइंस ने ये फैसला कराची विमान हादसे की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट आने के बाद लिया है. इसमें यह दावा किया गया है कि दुर्घटना विमान के कॉकपिट में बैठे चालक दल और हवाई यातायात नियंत्रण (एटीसी) की लापरवाही की वजह से हुआ है. विमान में तकनीकी खामी की वजह से ऐसा कुछ नहीं हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading