लाइव टीवी

अपने ही नागरिकों पर जुल्म ढा रहा है पाकिस्तान, गांवों में कत्लेआम करती है सेना, जानें पूरा मामला

भाषा
Updated: September 14, 2019, 11:00 PM IST
अपने ही नागरिकों पर जुल्म ढा रहा है पाकिस्तान, गांवों में कत्लेआम करती है सेना, जानें पूरा मामला
बलूचिस्तान के मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने बलूचिस्तान में पाकिस्तान द्वारा ‘‘घोर मानवाधिकार उल्लंघनों’’ को उजागर करने के लिए जिनेवा में पोस्टर अभियान चलाया.

बलूचिस्तान (Balochistan) के मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने बलूचिस्तान में पाकिस्तान (Pakistan) द्वारा ‘‘घोर मानवाधिकार उल्लंघनों’’ को उजागर करने के लिए जिनेवा (Geneva) में पोस्टर अभियान चलाया.

  • भाषा
  • Last Updated: September 14, 2019, 11:00 PM IST
  • Share this:
जिनेवा. बलूचिस्तान (Balochistan) के मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने बलूचिस्तान में पाकिस्तान (Pakistan) द्वारा ‘‘घोर मानवाधिकार उल्लंघनों’’ को उजागर करने के लिए जिनेवा (Geneva) में पोस्टर अभियान चलाया. बलूचिस्तान में ‘‘लोगों का लापता होना और उनकी हत्या’’ आम बात हो गई हैं. बलूच मानवाधिकारी परिषद (बीएचआरसी) की तरफ से यहां के ब्रोकन चेयर स्मारक इलाके में आयोजित ‘बलूचों की हत्या बंद करो’ अभियान ऐसे समय में चलाया गया जब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (United Nations Human Rights Council)) का 42वां सत्र चल रहा था.

ब्रोकन चेयर एक स्मारक है जिसे स्विट्जरलैंड (Switzerland) के कलाकार डैनियल बरसेट ने बनाया है. जिनेवा में कई प्रदर्शन और धरने इसी इलाके में आयोजित किए जाते हैं.

पाकिस्तान में बलूचिस्तान सबसे पिछड़ा इलाका
बीएचआरसी ने बयान जारी कर कहा, ‘‘पाकिस्तान के अंदर बलूचिस्तान सबसे पिछड़ा इलाका है. पाकिस्तान और चीन के लोगों के जीवन में सुधार के उद्देश्य से लाई गई परियोजना चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर (China Pakistan Economic Corridor) ने इस पिछड़ेपन को और बढ़ाया ही है और इससे पाकिस्तान को बलूच क्षेत्र में प्रचुर मात्रा में मौजूद संसाधनों के दुरूपयोग और उससे लाभ कमाने का अवसर प्रदान किया है.’’

लोगों के लापता होने और हत्याओं का सिलसिला जारी
इसने कहा कि आधिकारिक तौर पर जिसे द्विपक्षीय संपर्क, निवेश और वाणिज्य को बढ़ावा देने का प्रयास बताया जा रहा है वह वास्तव में राज्य की तरफ से प्रायोजित ‘‘सांस्कृतिक तबाही’’ है. पोस्टर अभियान में ‘‘काफी संख्या में लोगों के लापता होने और उनकी हत्याएं किए जाने’’ को उजागर किया गया है.

बीएचआरसी (BHRC) ने कहा, ‘‘पाकिस्तान की सेना गांवों में कत्लेआम करती है और वहां आग लगा देती है ताकि चीन की कॉलोनियों को वहां बसाया जा सके. बलूचिस्तान के जिन लोगों के घर नष्ट कर दिए गए हैं उन्हें पाकिस्तानी सेना के शिविरों के पास दयनीय हालत में रहने के लिए बाध्य किया जा रहा है.’’
Loading...

ये भी पढ़ें-
भारतीय सेना ने मार गिराए दो पाकिस्तानी जवान, शव लेने पहुंचा पाक, देखें Video

तंगी से जूझ रहे पाकिस्‍तान में लगा गधों का मेला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 14, 2019, 5:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...