हाफिज सईद को झटका, PAK चुनाव आयोग ने MML को रजिस्टर करने से किया इनकार

चुनाव आयोग ने यह फैसला आंतरिक (गृह) मंत्रालय की रिपोर्ट के आधार पर लिया है. मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल), प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा की विचारधारा से इत्तेफाक रखता है.

News18Hindi
Updated: June 13, 2018, 8:09 PM IST
हाफिज सईद को झटका, PAK चुनाव आयोग ने MML को रजिस्टर करने से किया इनकार
हाफिज सईद
News18Hindi
Updated: June 13, 2018, 8:09 PM IST
पाकिस्तान में अगले महीने होने जा रहे राष्ट्रीय चुनावों से पहले मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को करारा झटका लगा है. चुनाव आयोग ने सईद के संगठन जमात-उद-दावा की राजनीतिक यूनिट मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) को राजनीतिक पार्टी के तौर पर रजिस्टर करने की अर्जी खारिज कर दी. बुधवार को चुनाव आयोग ने ये फैसला लिया.

चुनाव आयोग ने यह फैसला आंतरिक (गृह) मंत्रालय की रिपोर्ट के आधार पर लिया है. मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल), प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा की विचारधारा से इत्तेफाक रखता है. गृह मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट का आधार इंटेलीजेंस एजेंसियों से मिली जानकारियों को बनाया है.


दरअसल, इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने पाकिस्तान चुनाव आयोग से कहा था कि वह एमएमएल को राजनीतिक पार्टी के तौर पर रजिस्टर न करने के फैसले की समीक्षा करे. बुधवार को चुनाव आयोग ने अपने फैसले की समीक्षा की, फिर अब्दुल गफ्फार सूमरो की अध्यक्षता वाली आयोग की चार सदस्यीय बेंच ने हाफिज सईद की अर्जी को खारिज कर दिया.


अपने आदेश में बेंच ने कहा कि आंतरिक मामलों के मंत्रालय की टिप्पणियों के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है. मंत्रालय ने एमएमएल के संबंध प्रतिबंधित जमात- उद-दावा (जेयूडी) के नेता सईद से होने के कारण उसे राजनीतिक पार्टी के तौर पर रजिस्टर किए जाने को लेकर अपनी आपत्ति जाहिर की थी. मंत्रालय ने कहा था कि एमएमएल प्रतिबंधित जेयूडी की ही एक शाखा है.

वहीं, एमएमएल के वकील ने कहा कि संघीय सरकार किसी भी राजनीतिक दल को मान्यता देने से इनकार नहीं कर सकती. उन्होंने कहा, 'ये कोई नहीं बता सकता कि भविष्य में कोई राजनीतिक दल किसी प्रतिबंधित संगठन से संबंधित होगा या नहीं.' उन्होंने कहा कि एमएमएल के नेता सैफुल्लाह खालिद का हाफिज सईद या जमात-उद-दावा से कोई लिंक नहीं है.

बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को संसद और प्रांतों को चुनाव होने हैं. हाफिज सईद खुद तो चुनाव लड़ेगा नहीं, लेकिन उसने 200 उम्मीदवार उतारने की बात कही है. (एजेंसी इनपुट के साथ)
Loading...

और भी देखें

Updated: December 03, 2018 03:12 PM ISTदेश और दुनिया की दस बड़ी खबरें जो आज आपको जाननी चाहिए
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर