लाइव टीवी

भारत के सामने झुके इमरान खान, पाकिस्तानी बच्चों की जिंदगी बचाने की लगाई गुहार

News18Hindi
Updated: December 27, 2019, 10:35 AM IST
भारत के सामने झुके इमरान खान, पाकिस्तानी बच्चों की जिंदगी बचाने की लगाई गुहार
पाकिस्‍तान चीन से मंगाए पोलियो मार्कर्स की गुणवत्‍ता खराब निकलने के बाद अब भारत से खरीदारी करेगा.

पाकिस्‍तान (Pakistan), अफगानिस्‍तान (Afghanistan) और नाइजीरिया (Nigeria) में अब तक पोलियो पूरी तरह खत्‍म नहीं हो पाया है. बच्‍चों को दवा पिलाने के बाद पोलियो मार्कर्स (Polio Markers) का इस्तेमाल उंगली पर निशान लगाने के लिए किया जाता है. जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) से 5 अगस्‍त को अनुच्‍छेद-370 (Article 370) हटाए जाने के बाद पाकिस्‍तान ने भारत (India) के साथ कारोबार पर रोक लगा दी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 27, 2019, 10:35 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्‍तान (Pakistan) की इमरान खान सरकार ने भारत से पोलियो मार्कर्स (Polio Markers) खरीदने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) की अध्‍यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में इस बाबत निर्णय लिया गया. दरअसल, पाकिस्‍तान ने पहले चीन से पोलियो मार्कर्स मंगाए थे, लेकिन इनकी क्‍वालिटी बहुत खराब निकली. जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्‍छेद-370 (Article 370) हटाए जाने के बाद पाकिस्‍तान ने 5 अगस्‍त को भारत के साथ कारोबार (Trade) पर रोक लगा दी थी. हालांकि, लोगों के दबाव में एक हफ्ते बाद ही दवा कारोबार से पाबंदी हटा दी थी. बता दें कि पोलियो मार्कर्स का उपयोग बच्चों को दवा पिलाने के बाद उंगली पर निशान लगाने के लिए किया जाता है.

WHO ने भारत और चीन को पोलियो मार्कर्स उत्‍पादन के लिए किया है अधिकृत
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सिर्फ भारत (India) और चीन (China) को पोलियो मार्कर्स के उत्पादन के लिए अधिकृत किया है. जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्‍छेद-370 को हटाने के बाद पाकिस्तान ने विरोध में भारत से व्यापार पर अपनी तरफ से रोक लगा दी थी. कुछ ही दिनों में पाकिस्‍तान में जीवनरक्षक दवाइयों का अकाल पड़ गया था. इसके बाद आम लोगों के साथ ही कारोबारी भी सड़क पर उतार आए. भारत से कारोबार बंद करने के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शनों से दबाव में आई पाकिस्‍तान सरकार ने एक हफ्ते के भीतर दवा कारोबार पर लगाई गई पाबंदी हटा दी.

पाकिस्‍तान ने पाबंदी लगाने से भारत के साथ मार्कर्स खरीदने का किया था करार

कारोबार पर प्रतिबंध लगाने से पहले पाकिस्तान ने भारत से 80 हजार मार्कर्स खरीदने का करार किया था. रोक के बाद इमरान सरकार ने आननफानन चीन से मार्कर्स मंगा लिए. पाकिस्‍तान के समाचारपत्र 'डॉन' की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में पोलियो उन्मूलन अभियान (Polio Eradication Campaign) के प्रमुख राणा सफदर ने बताया कि चीनी मार्कर्स काफी महंगे थे. यही नहीं उनकी क्वॉलिटी भी खराब थी. दरअसल, बच्चे कई बार मार्कर लगी उंगली मुंह में रख लेते हैं. भारतीय मार्कर इस लिहाज से सुरक्षित हैं. वहीं, चीनी उत्पादों में टॉक्सिंस पाए जाते हैं. इसकी शिकायत चीन सरकार से की गई तो उसने गुणवत्ता सुधारने का भरोसा दिया. हालांकि, अब पाकिस्तान ने इन्हें भारत से खरीदने का फैसला किया है.

इमरान खान के गृहराज्‍य में पोलियो के सबसे ज्‍यादा मामले आए हैं सामने
भारत को पोलियो मुक्‍त घोषित किया जा चुका है. वहीं, दुनिया के तीन देशों में अब तक पोलियो उन्मूलन नहीं हो पाया है. ये तीन देश पाकिस्तान, नाइजीरिया और अफगानिस्तान हैं. पाकिस्तान में 1988 में पोलियो के 35 लाख मामले सामने आए थे. साल 2014 में यह आंकड़ा 306 रह गया. जून, 2019 तक पाकस्‍तान में 41 पोलियो के केस मिले थे. सबसे ज्यादा 33 मामले प्रधानमंत्री इमरान खान के गृहराज्य खैबर पख्तूनख्वा से हैं. पोलियो वैक्सीन पिलाने के लिए घर-घर जाने वाले 16 वर्कर्स की हत्या कर दी गई. सरकार को पोलियो वैक्सीनेशन टीम के साथ हथियारबंद जवान तैनात करना पड़े.ये भी पढ़ें:

नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सौनक के पास होगी ब्रिटेन के खजाने की चाभी!

टिड्डियों को भगाने का मिला काम तो टीचर्स ने छात्रों को ही खेतों में उतार दिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 27, 2019, 10:32 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर