पाकिस्तानी नागरिक अमेरिका में साजिश रचता हुआ पकड़ाया, 20 साल की होगी जेल

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

एक पाकिस्तानी-अमेरिकी को देश से उच्च तकनीक वाले कंप्यूटर के उपकरण और ‘सॉफ्टवेयर ऐप्लिकेशन सॉल्यूशन’ पाकिस्तान परमाणु ऊर्जा आयोग को निर्यात करने के आरोप में अमेरिका में गिरफ्तार (Pakistani Arrested) किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 8:57 PM IST
  • Share this:
शिकागो. एक पाकिस्तानी-अमेरिकी को सरकारी स्वीकृति के बिना देश से उच्च तकनीक वाले कंप्यूटर के उपकरण और ‘सॉफ्टवेयर ऐप्लिकेशन सॉल्यूशन’ पाकिस्तान परमाणु ऊर्जा आयोग को निर्यात करने के आरोप में अमेरिका में गिरफ्तार (Pakistani Arrested) किया गया है. पाकिस्तान स्थित ‘बिजनेस सिस्टम इंटरनेशनल’ (BSI) प्राइवेट लिमिटेड और शिकागो स्थित बीएसआई यूएसए के मालिक अब्दुल्ला सैयद (65) (Abdullah Saiyad) को 16 सितम्बर को गिरफ्तार किया गया था. अगर वह दोषी पाया जाता है तो उसे अधिकतम 20 साल की सजा हो सकती है. फिलहाल वह अभी संघीय हिरासत में है. सैयद के पास दो कंपनियां थीं जो उच्च तकनीक वाले कंप्यूटर के उपकरण, सर्वर और‘सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन सॉल्यूशन’ निर्यात करती थीं.

आरोपी सैयद ने कंपनी के स्टाफ के साथ रची साजिश

शिकागो में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में चल रहे मुकदमे के अनुसार 2006 से 2015 तक सैयद और बीएसआई ने पाकिस्तान में कम्पनी के कर्मचारियों के साथ मिलकर एक साजिश रची. इन्होने अमेरिकी वाणिज्य विभाग से आवश्यक अधिकार-पत्र लिए बगैर अमेरिका से पाकिस्तान परमाणु ऊर्जा आयोग (पीएईसी) को कंप्यूटर उपकरण निर्यात कर दिए. इस तरह सैयद ने अंतरराष्ट्रीय आपातकालीन आर्थिक ऊर्जा अधिनियम का उल्लंघन किया. पाकिस्तान एटॉमिक एनर्जी कमीशन एक सरकारी एजेंसी है जो ‘उच्च विस्फोटक और परमाणु हथियार के पार्ट्स, यूरेनियम खनन और संवर्धन और ठोस ईंधन वाली बैलिस्टिक मिसाइलों का निर्माण और परीक्षण का काम करती है.



सैयद पर ये आरोप लगे हैं
अभियोग ने सैयद और बीएसआई पर अंतर्राष्ट्रीय आपातकाल आर्थिक शक्तियों अधिनियम और विदेशी व्यापार विनियमों का उल्लंघन करने की साजिश रचने और अंतर्राष्ट्रीय आपातकाल आर्थिक शक्ति अधिनियम का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है. सैयद, बीएसआई और अन्य साजिशकर्ताओं ने यूएस-आधारित कंप्यूटर निर्माताओं को यह झांसा दिया कि यह अवैध शिपमेंट पाकिस्तान स्थित विश्वविद्यालयों, सैयद के व्यवसाय या खुद सैयद के लिए थे.

ये भी पढ़ें: 4 अक्टूबर से मुस्लिमों की सबसे पाक जगह मक्का का दर इबादत के लिए खुलेगा

मलेशिया में विपक्ष के नेता ने कहा-हम बनाएंगे सरकार, हमारे पास है बहुमत 


हालांकि सच तो यह था कि ये शिपमेंट PAEC के लिए थे जो एजेंसी के इंजीनियरों और वैज्ञानिकों को प्रशिक्षित करने का काम करती थी. न्यायिक विभाग ने कहा कि सैयद पर लगे आरोपों के अनुसार सैयद और उनकी कंपनी ने शिपर्स एक्सपोर्ट डिक्लेरेशन सहित कई यूएस-आधारित कंप्यूटर निर्माताओं को अमेरिकी सरकार के शिपिंग दस्तावेजों को जमा करने का कारण बनाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज