होम /न्यूज /दुनिया /पाकिस्‍तान में बाढ़ के बाद अब मलेरिया-डेंगू का कहर, मरीजों से अस्‍पताल हुए फुल, हालात बदतर

पाकिस्‍तान में बाढ़ के बाद अब मलेरिया-डेंगू का कहर, मरीजों से अस्‍पताल हुए फुल, हालात बदतर

हजारों लोग जल जनित बीमारियों से पीड़ित हैं.(Photo- reuters)

हजारों लोग जल जनित बीमारियों से पीड़ित हैं.(Photo- reuters)

दक्षिणी पाकिस्तान के एक छोटे से शहर सेहवान के मुख्य सरकारी अस्पताल में आपातकालीन वार्ड में पांव रखने की भी जगह नहीं है. ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बाढ़ से जूझ रहे पाकिस्तान में अब जलजनित बीमारियां अपने पैर पसार रही हैं
दक्षिणी पाकिस्तान के सेहवान का मुख्य सरकारी अस्पताल मरीजों से भरा पड़ा है
हालात देखते हुए WHO ने विनाशकारी बाढ़ के बाद 'दूसरी आपदा' की चेतावनी दी

इस्लामाबाद. बाढ़ और आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में अब जलजनित बीमारियां अपने पैर पसार रही हैं. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मलेरिया, डेंगू और अन्य बीमारियों के मरीज अस्पतालों में दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं. हजारों लोग इलाज के लिए अस्पतालों के गलियारे में बैठे हुए हैं. अस्पताल के कमरों के साथ आपातकालीन वार्ड भी मरीजों से भरे हुए हैं. पाकिस्तान के हालात को देखते हुए WHO ने भी दूसरी आपदा की चेतावनी दे दी है.

रायटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिणी पाकिस्तान के एक छोटे से शहर सेहवान के मुख्य सरकारी अस्पताल में आपातकालीन वार्ड में पांव रखने की भी जगह नहीं है. रिपोर्ट के मुताबिक सैकड़ों लोग कमरों और गलियारों में बैठे हुए हैं, जो मलेरिया और अन्य बीमारियों के इलाज के लिए आए हैं. बता दें कि ये जलजनित बीमारियां देश की सबसे भीषण बाढ़ के बाद से फैलनी शुरू हुई हैं.

अब्दुल्ला शाह इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ साइंसेज के आपातकालीन प्रतिक्रिया विभाग में एक युवा डॉक्टर नवीद अहमद ने बताया कि दक्षिणी पाकिस्तान में बीमारियों और मौत को सीमित करने की लड़ाई हम लगातार लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि 22 करोड़ की आबादी वाले देश में बाढ़ से करीब 33 मिलियन लोग प्रभावित हुए हैं. रिपोर्ट में बताया गया कि हर सुबह उनके क्लिनिक में अनुमानित 300-400 रोगियों में से कई बच्चे मलेरिया और दस्त से पीड़ित होते हैं. अहमद के मुताबिक, बाढ़ की वजह से लोगों में त्वचा, आंखों में संक्रमण, दस्त, मलेरिया, टाइफाइड और डेंगू बुखार के व्यापक मामले सामने आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में बाढ़ के पानी को कुछ स्थानों पर कम होने में दो से छह महीने लग सकते हैं.

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को देख पाकिस्‍तान के पीएम बोले; ‘समुद्र की तरह’ दिखने लगा है देश, हर तरफ पानी ही पानी…

रिपोर्ट के मुताबिक बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र सिंध प्रांत के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार एक जुलाई से अब तक मलेरिया के 17,285 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. बीमारी के प्रकोप के जोखिम को देखते हुए, सिंध सरकार सबसे अधिक जोखिम वाले जिलों में अस्थायी आधार पर 5,000 से अधिक स्वास्थ्य पेशेवरों को नियुक्त करने की कोशिश कर रही है.

Tags: Dengue, Flood, Pakistan

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें