PAK में इमरान के खिलाफ विरोध तेज़, PM मोदी को कश्मीर बेच देने के आरोप लगे

पाकिस्तान सरकार (Government of Pakistan) पर अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत कश्मीर (Kashmir) को बेचने का आरोप लगाया गया है और सरकार को गिराने के लिए जल्द ही इस्लामाबाद (Islamabad) को घेरने की चेतावनी गई है.

News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 7:16 PM IST
PAK में इमरान के खिलाफ विरोध तेज़, PM मोदी को कश्मीर बेच देने के आरोप लगे
पाकिस्तानी विपक्ष ने पीएम इमरान खान पर कश्मीर को बेचने का आरोप लगाया है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 7:16 PM IST
पाकिस्तान सरकार (Government of Pakistan) पर अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत कश्मीर (Kashmir) को बेचने का आरोप लगाया गया है और सरकार को गिराने के लिए जल्द ही इस्लामाबाद (Islamabad) को घेरने की चेतावनी गई है.  यह आरोप और किसी ने नहीं बल्कि पाकिस्तान के संयुक्त विपक्ष के मल्टी-पार्टी कॉन्फ्रेंस (MPC) ने पाकिस्तान सरकार पर अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत कश्मीर को बेचने का आरोप लगाया है और सरकार को गिराने के लिए जल्द ही राष्ट्रीय राजधानी को घेरने की चेतावनी दी है.

अख़बार डॉन में मंगलवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, MPC के संयोजक और जमीयत उलेमा-ए इस्लाम-एफ (JUI-F) के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "सभी विपक्षी दलों ने इस्लामाबाद जाने का निर्णय लिया है."

पूरा विपक्ष सरकार के खिलाफ इस मुद्दे पर है एकजुट
उन्होंने कहा कि संयुक्त विपक्ष की रहबर कमेटी को एक सप्ताह के अंदर मांग पत्र तैयार करने के लिए कहा गया है, ताकि इस्लामाबाद जाने से पहले उनके हाथों में कुछ हो. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी और पाकिस्तान मुस्लिम लीग - नवाज (PML-N) के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने कॉन्फ्रेंस में हिस्सा नहीं लिया. हालांकि इन दो मुख्य विपक्षी दलों के नेता कॉन्फ्रेंस में मौजूद रहे. इन नेताओं में पीपीपी के फरहतुल्ला बाबर, शेरी रहमान और नय्यर हुसैन बुखारी और पीएमएल-एन के सरदार अयाज सादिक, ख्वाजा आसिफ और अहसान इकबाल मौजूद रहे.

विपक्ष बता रहा है अंतरराष्ट्रीय साजिश का हिस्सा
अहसान इकबाल और नय्यर हुसैन बुखारी के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में मौलाना फजल ने कहा कि संयुक्त समिति की रहबर कमेटी 26 अगस्त को मांगपत्र लेकर आएगी और अगली MPC की बैठक 29 अगस्त को होगी, जिसमें प्रमुख विपक्षी पार्टियों के अध्यक्ष मांगों की समीक्षा करेंगे.

मौलाना फजल ने कहा, "संयुक्त विपक्ष ने आज अभियान छेड़ दिया है, जो सरकार को गिराकर ही रुकेगा." भारत अधिकृत कश्मीर के विशेष दर्जे (Special Status) को समाप्त किए जाने के बारे में पूछे जाने पर मौलाना फजल ने कहा कि सरकार ने एक अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत कश्मीर को बेचा.
Loading...

विपक्ष का आरोप राष्ट्रपति ट्रंप भी हैं साजिश में शामिल
विपक्ष ने यह आरोप भी लगाय कि "वर्तमान स्थिति को देखते हुए इस आशंका को बल मिलता है कि कश्मीर के संबंध में निर्णय पिछले महीने प्रधानमंत्री इमरान खान की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) से हुई मुलाकात के दौरान लिया गया होगा कि यदि भारत कश्मीर के भविष्य में कोई बदलाव करता है तो पाकिस्तान उस पर चुप रहेगा."

मौलाना फजल ने कहा, "आज पाकिस्तान के लोग और कश्मीर के लोग एक अंतरराष्ट्रीय साजिश के शिकार हुए हैं, जिसमें सरकार हिस्सेदार है. हमारे शासकों ने कश्मीरियों के पीठ में छुरा घोपा है." बताते चलें कि भारत सरकार ने संविधान के अनुच्छेद 370 (Article 370) के तहत जम्मू एवं कश्मीर को प्रदत्ता विशेष दर्जे को समाप्त कर दिया है और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया है. जम्मू एवं कश्मीर में विधानसभा होगी, जबकि लद्दाख बगैर विधानसभा के होगा. अब पाकिस्तानी विपक्ष के नए आरोपों के बीच इमरान खान की मुसीबतें और बढ़ने का अनुमान है.

यह भी पढ़ें: आर्टिकल 370 हटने से बीजेपी की बल्ले-बल्ले, टूटे सारे रिकॉर्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 6:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...