• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • पाकिस्तान के बिगड़ते जा रहे आर्थिक हालात! अब पीएम आवास किराए पर देने की आई नौबत

पाकिस्तान के बिगड़ते जा रहे आर्थिक हालात! अब पीएम आवास किराए पर देने की आई नौबत

पाकिस्तान सरकार ने प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास को किराय पर देने की घोषणा कर दी है. (फाइल फोटो: Shutterstock)

पाकिस्तान सरकार ने प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास को किराय पर देने की घोषणा कर दी है. (फाइल फोटो: Shutterstock)

Pakistan's Economy: रिपोर्ट के अनुसार, पीएम पद संभालने के बाद खान ने घोषणा कर दी थी कि सरकार के पास जन कल्याण योजनाओं पर खर्च करने के लिए फंड नहीं है. इसके बाद से ही वो बनी गला आवास पर रह रहे हैं और केवल पीएम कार्यालय का इस्तेमाल करते हैं.

  • Share this:

    इस्लामाबाद. पाकिस्तान की इमरान सरकार आर्थिक तंगी का सामना करती दिख रही है. हालात ये हो गए हैं कि सरकार ने प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास को किराए पर देने की घोषणा कर दी है. हालांकि, इससे पहले भी पीएम आवास को विश्वविद्यालय में तब्दील करने का ऐलान किया जा चुका है. अब नई घोषणा के तहत आवास की जगह को उच्च स्तरीय राजनयिक कार्यक्रमों, अंतरराष्ट्रीय सेमिनार समेत कई आयोजनों के लिए किराए पर दिया जाएगा.

    समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पाकिस्तान सरकार की तरफ से 2019 में ऐलान किया गया था कि आवास को शैक्षणिक संस्थान में बदला जा रहा है. इसके बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ने आधिकारिक आवास खाली कर दिया था. एजेंसी ने समा टीवी के हवाले से बताया है कि अब सरकार ने इस योजना को छोड़कर राजधानी इस्लामाबाद स्थित संपत्ति को किराए पर देने का फैसला किया है.

    रिपोर्ट के मुताबिक, ‘इस काम के लिए दो समितियां भी तैयार की गई हैं. ये समितियां ही सुनिश्चित करेंगी कि पीएम आवास में आयोजनों के दौरान अनुशासन और मर्यादा का उल्लंघन ना हो.’ स्थानीय मीडिया के हवाले से एजेंसी ने कहा कि पीएम आवास भवन के जरिए राजस्व जुटाने के संबंध में कैबिनेट स्तर की एक बैठक होगी. नए फैसले के अनुसार, पीएम आवास का ऑडिटोरियम, दो गेस्ट विंग और एक लॉन को किराए पर दिया जाएगा. इसके अलावा पाक पीएम के काम करने वाली पूर्व जगह पर राजनयिक कार्यक्रम और अंतरराष्ट्रीय सेमिनार आयोजित होंगे.

    यह भी पढ़ें: अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने कहा- अफगानिस्तान में शांति से पाकिस्तान को होगा सबसे अधिक लाभ

    एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, देश का पीएम पद संभालने के बाद खान ने घोषणा कर दी थी कि सरकार के पास जन कल्याण योजनाओं पर खर्च करने के लिए फंड नहीं है. इसके बाद से ही वो बनी गला आवास पर रह रहे हैं और केवल पीएम कार्यालय का इस्तेमाल करते हैं.

    पाक की आर्थिक परेशानी का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि खान के सत्ता में आने के बाद बीते तीन सालों में मुल्क की अर्थव्यवस्था 1900 करोड़ डॉलर तक सिकुड़ गई है. उन्होंने देश की स्थिति बेहतर करने के लिए कई सरकारी खर्चों में कटौती की है. पूर्व वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल कह चुके हैं कि खान के नेतृत्व वाली सरकार ‘अर्थव्यवस्था के साथ खेल रही है.’ साथ ही उन्होंने कहा कि उन्होंने कर्ज का स्तर भी काफी बढ़ा दिया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज