कोरोना वायरस: लॉकडाउन के खिलाफ सड़क पर उतरे हजारों अमेरिकी, ट्रंप ने भी दिया साथ

कोरोना वायरस: लॉकडाउन के खिलाफ सड़क पर उतरे हजारों अमेरिकी, ट्रंप ने भी दिया साथ
(AP Photo/Eric Gay)

कोरोना वायरस के चलते अमेरिका (America) की 95 प्रतिशत से अधिक आबादी अपने घरों में बंद है और 2.2 करोड़ से अधिक अमेरिकियों ने बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 11:38 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
वॉशिंगटन. कोरोना वायरस  (Coronavirus) से होने वाली मौतों का आंकड़ा दुनियाभर में डेढ़ लाख के पार चला गया है, जिसमें से करीब एक चौथाई मौत केवल अमेरिका (America) में हुई है. वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने लॉकडाउन के आदेशों के खिलाफ देश में हो रहे प्रदर्शनों को अपना समर्थन दिया है. इस बात के पर्याप्त साक्ष्य हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग से वैश्विक महामारी का प्रकोप कम हुआ है, खासकर जब विश्व की आधी से ज्यादा आबादी यानी 4.5 अरब लोग अपने घरों में कैद हैं.

दुनियाभर की सरकारें अब इस माथापच्ची में लगी हैं कि बंद में कब और कैसे ढील दी जाए, जिसने वैश्विक अर्थव्यवस्था को संकट में डाल दिया है जबकि कोविड-19 से होने वाली मौतों की संख्या सर्वाधिक प्रभावित देशों में और बढ़ रही है. इस बीच अमेरिका के तीन राज्यों में प्रदर्शनकारी इस हफ्ते जमा हुए और प्रतिबंध हटाने की मांग की. यहां सबसे बड़ा प्रदर्शन मिशिगन में हुआ, जहां 3,000 लोग एकत्र हुए जिनमें से कुछ के पास हथियार भी थे. ट्रंप ने बंद में छूट देने का फैसला ज्यादातर राज्य के अधिकारियों पर छोड़ा हुआ है, जबकि उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था को चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने के लिए निर्देशों की भी रूपरेखा तैयार की है. अमेरिका के टेक्सास, हैम्पशायर, इंडियाना समेत कई इलाकों में लोगों का विरोध प्रदर्शन जारी है.

22 लाख लोगों में से करीब एक तिहाई अमेरिका में संक्रमित
संक्रमण की चपेट में आए 22 लाख लोगों में से करीब एक तिहाई अमेरिका में हैं. यहां दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले सबसे ज्यादा 37,000 मौत हुई हैं. इसके बाद इटली, स्पेन और फ्रांस में बड़े पैमाने पर जनहानि हुई है. हालांकि ये आंकड़े असल संक्रमित लोगों की वास्तविक संख्या को कुछ हद तक ही दिखाते हैं क्योंकि कई देश केवल गंभीर मामलों की जांच कर रहे हैं. असल में दुनिया का कोई कोना ऐसा नहीं बचा है जो कोरोना वायरस के असर से अछूता हो. अफ्रीका में रातभर में मृतकों की संख्या 1,000 के पार पहुंच गई.



लोगों की मांग है कि कोरोना के चलते काफी नौकरियां गई हैं, जिसके चलते जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. बता दें. ट्रंप ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से प्रभावित देश की अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने की नयी चरणबद्ध योजना गुरूवार को पेश करते हुए गवर्नरों को अपने-अपने राज्यों में पाबंदियों को हटाने पर फैसला लेने की अनुमति दी. अभी अमेरिका की 95 प्रतिशत से अधिक आबादी अपने घरों में बंद है और 2.2 करोड़ से अधिक अमेरिकियों ने बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन दिया है.



यह भी पढ़ें:  चिंता की बातवैज्ञानिक क्यों मान रहे हैं कि कोरोना वायरस दोबारा लौटेगा?
First published: April 19, 2020, 10:23 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading