लाइव टीवी

न्यूयॉर्क सबवे मरम्मत के सिलसिले में भारतीय मूल के व्यक्ति ने गुनाह कबूला

भाषा
Updated: March 17, 2020, 6:14 PM IST
न्यूयॉर्क सबवे मरम्मत के सिलसिले में भारतीय मूल के व्यक्ति ने गुनाह कबूला
भ्रष्‍टाचार के इस मामले में बीस साल तक की कैद हो सकती है.

पटेल को जब पता चला कि उनकी जांच की जा रही है, तो उन्होंने दूसरों से भी साक्ष्य मिटाने के लिए कहा था.

  • Share this:
न्यूयॉर्क. भारतीय मूल के सार्वजनिक परिवहन के एक कर्मचारी ने चक्रवात सैंडी के बाद सबवे की मरम्मत के लिए परिवहन अधिकारियों द्वारा ठेका देने में धोखाधड़ी की संघीय जांच में बाधा डालने में अपना गुनाह कबूल कर लिया. मेट्रोपोलिटन परिवहन प्राधिकरण (एमटीए) के पूर्व प्रबंधक न्यूजर्सी के परेश पटेल (59) ने फरवरी में संघीय अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण किया था.

न्यूयॉर्क के साउदर्न जिले के यूनाइटेड स्टेट अटॉर्नी ज्योफ्री बरमैन ने कहा कि उसने न्याय में बाधा डालने के एक मामले में गुनाह कबूल किया है, जिसमें अधिकतम 20 वर्ष की कैद हो सकती है. सूचना में लगाए गए आरोपों और पटेल द्वारा अदालत में कबूल किए गए गुनाह के मुताबिक 2013 में चक्रवात सैंडी के बाद सबवे की मरम्मत करने के लिए सैंडी चक्रवात के बाद एमटीए ने निर्माण प्रबंधन निविदा जारी की.

भ्रष्टाचार रोकने के लिए एमटीए का नियम है कि किसी भी निविदा के चयन, उसे देने या प्रशासन में कर्मचारियों की भागीदारी से मनाही है. पटेल एमटीए में कार्यक्रम प्रबंधक थे और निविदा देने की जिम्मेदारी उनकी ही थी और चक्रवात सैंडी के लिए मरम्मत से जुड़े कार्यों की देखरेख वही कर रहे थे. उन्होंने और एमटीए के अन्य कर्मचारियों ने जून, 2014 में सलाहकार कंपनी 'सतकीर्ति कंसल्टिंग इंजीनियरिंग' का गठन किया था.



बच्चों के नाम से फर्जी कंपनी बनाई



एमटीए के नियम उन्हें इस तरह की कंपनी में हितधारण से रोकते हैं, इसलिए पटेल और अन्य कर्मचारियों ने 'सतकीर्ति' का पंजीकरण अपने बच्चों के नाम से कराया और फिर इसका मालिकाना हक पटेल के एक दोस्त के नाम कर दिया गया. पटेल को जब पता चला कि उनके व्यवहार की जांच की जा रही है तो उन्होंने एक ई-मेल अकाउंट को डिलीट करने सहित कई कदम उठाए थे और दूसरों से भी साक्ष्य मिटाने के लिए कहा था. साथ ही उन्होंने दूसरों को झूठ बोलने के लिए प्रोत्साहित किया, ताकि जांच में बाधा आ सके.

ये भी पढ़ें - जो बाइडन ने वाशिंगटन की डेमोक्रेटिक प्राइमरी जीती, सैंडर्स का  अभियान खतरे में

                 ईरान में कोरोना वायरस से 135 और लोगों की मौत, अब तक 988 पहुंचा आंकड़ा

 

 
First published: March 17, 2020, 6:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading