फेस मास्क पहनना हुआ अनिवार्य तो व्यक्ति ने निजी अंग पर लगाया और घूम आया बाजार

फेस मास्क पहनना हुआ अनिवार्य तो व्यक्ति ने निजी अंग पर लगाया और घूम आया बाजार
ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट पर एक व्यक्ति अपने निजी अंग पर फेस मास्क लगाकर घूमता हुआ

सेंट्रल लंदन की एक बहुत ही लोकप्रिय शॉपिंग स्ट्रीट (Famous Local Shopping Street) पर शुक्रवार की शाम को एक व्यक्ति बगैर किसी उद्देश्य के लगभग पूरी तरह नंगा घूमता हुआ देखा गया.

  • Share this:
लंदन. सेंट्रल लंदन (Central London) की एक बहुत ही लोकप्रिय शॉपिंग स्ट्रीट (Famous Local Shopping Street) पर शुक्रवार की शाम को एक व्यक्ति बगैर किसी उद्देश्य के लगभग पूरी तरह नंगा घूमता (Almost Nacked) हुआ देखा गया. इस व्यक्ति ने अपनी नग्नता छिपाने के नाम पर अपने प्राइवेट पार्ट को मास्क (Face Mask Wore at Private Part) से ढंका हुआ था. वहां से गुजर रहे लोग उस व्यक्ति को देखकर चकित, खुश और हतप्रभ हो रहे थे.

व्यक्ति ने निजी अंग पर हल्के नीले रंग का फेस मास्क पहना था

वह व्यक्ति ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट पर निर्लिप्त भाव से यहां से वहां काफी देर तक घूमता रहा. उसने अपने निजी अंग पर एक हल्के नीले रंग फेस मास्क् पहना हुआ था. वहां उपस्थित कुछ लोग अपने मोबाइल से उसकी तस्वीरे हुए देखे गए तो कुछ लोग उसे घूरते हुए नजर आ रहे थे. यह जानकारी नहीं मिल सकी है कि वह व्यक्ति इस तरह नंग-धड़ंग क्यों घूम रहा था. हालांकि शुक्रवार से दुकानों में मास्क लगाकर प्रवेश करने की अनुमति दी गई है.



ये भी पढ़ें: रूस ने अंतरिक्ष में हथियार परीक्षण के अमेरिका और ब्रिटेन के आरोपों को खारिज किया
इजराइल के रक्षा मंत्री ने कहा- भारत के साथ मजबूत संबंध कोविड-19 से निपटने में योगदान देंगे

कोरोना वायरस कान को पहुंचा सकता है नुकसान

कोरोना वायरस का संक्रमण कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है. इस वायरस के संक्रमण के अलग—अलग तरीकों का पता चल रहा है. अभी एक ताले रिसर्च में पता चला कि यह वायरस कान को भी नुकसान पहुंचा सकता है. मेडिकल जर्नल जामा ओटोलरींगोलॉजी के एक रिसर्च में पता चला है कि कोरोना वायरस सिर्फ नाक, गले और फेफड़े को ही नहीं, बल्कि कान को भी संक्रमित कर सकती है. इसमें कान के पीछे हड्डी को नुकसान पहुंच सकता है.





कान के संक्रमण से तीन लोगों की हो चुकी है मौत

मेडिकल जर्नल जामा ओटोलरींगोलॉजी में छपी इस स्टडी में तीन ऐसे मरीजों का जिक्र किया गया है, जिनकी कोरोना वयारस संक्रमण से मौत हो गई थी. इन तीन में से एक 60 साल के और दूसरा 80 साल के थे. इन दोनों मरीजों के कान के पीछे हड्डी में कोरोना इन्फेक्शन पाया गया है. जॉन हॉपकिंस स्कूल ऑफ मेडिसिन की ने कहा है कि इस रिसर्च के बाद कोरोना वायरस के लक्षण वाले लोगों में कान भी चेक किए जाएं. 80 साल की जो मरीज थी उसके केवल दाहिने कान के बीच में वायरस पाया गया था जबकि 60 साल वाले में शख्स के बाएं और दाए मास्टॉयड में और उसके बाएं और दाएं मध्य कान में वायरस था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading