एस्ट्राजेनेका की पहले डोज के बाद फाइजर की वैक्सीन लेना फायदेमंद, स्टडी में दावा

इस मामले में इम्यून प्रतिक्रिया को लेकर खुलासा नहीं हुआ है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस मामले में इम्यून प्रतिक्रिया को लेकर खुलासा नहीं हुआ है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Study on Covid Vaccines: स्पेन में हुई कॉम्बिवैक्स स्टडी में पता चला है कि एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) के बजाए दूसरे डोज में फाइजर की वैक्सीन प्राप्त करने वाले लोगों में IgG एंटीबॉडीज की मौजूदगी 30 से 40 गुना ज्यादा थी.

  • Share this:

मैड्रिड. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ वैक्सीन को लेकर स्पेन में की गई एक स्टडी में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. स्टडी में पता चला है कि एस्ट्राजेनेका प्राप्त कर चुके लोगों को फाइजर (Pfizer) का टीका लगाना सुरक्षित और असरदार है. स्टडी में 18-59 साल के ऐसे 670 लोगों को शामिल किया गया था, जिन्होंने एस्ट्राजेनेका का पहला डोज हासिल कर लिया था.

स्पेन में हुई कॉम्बिवैक्स स्टडी में पता चला है कि एस्ट्राजेनेका के बजाए दूसरे डोज में फाइजर की वैक्सीन प्राप्त करने वाले लोगों में IgG एंटीबॉडीज की मौजूदगी 30 से 40 गुना ज्यादा थी. वहीं, फाइजर का डोज लेने के बाद शरीर में एंटीबॉडीज की मौजूदगी भी काफी ज्यादा शक्तिशाली हो गई. यह प्रभाव एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन के मुकाबले में दोगुने से भी ज्यादा है.

अब फ्रिज में 1 महीने तक रखी जा सकेगी फाइजर की वैक्सीन, EU के ड्रग नियामक ने दी अनुमति

स्टडी में शामिल डॉक्टर मैग्डालेना कैम्पिन्स ने बताया कि अध्ययन के दौरान केवल 1.7 फीसदी लोगों में गंभीर साइड इफेक्ट्स देखने को मिले हैं. उन्होंने कहा, 'ऐसे कोई भी लक्षण नहीं मिले, जिन्हें गंभीर माना जा सके.' ब्रिटेन में हुई इस तरह की स्टडी में खुलासा हुआ था कि एस्ट्राजेनेका के बाद फाइजर का डोज या इससे विपरीत स्थिति में लोगों में हल्के या मध्यम लक्षणों के नजर आने की संभावना ज्यादा थी.


इस मामले में इम्यून प्रतिक्रिया को लेकर खुलासा नहीं हुआ है. इसके संबंध में डेटा आने वाले कुछ महीनों में सामने आ सकता है. दरअसल, इस स्टडी का मकसद 60 साल से ज्यादा आयु वाले लोगों के लिए एस्ट्राजेनेका का विकल्प तलाशना था. क्योंकि खून के थक्कों के कारण एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के सीमित इस्तेमाल की बात कही जा रही थी.

फ्रिज में रखी जा सकती है फाइजर की वैक्सीन



यूरोपीय संघ के ड्रग रेग्युलेटर ने कहा है कि फाइजर की वैक्सीन को अब फ्रिज के तापमान में 1 महीने तक रखा जा सकता है. इससे पहले यह समय सीमा केवल 5 दिनों की थी. इसके अलावा कनाडा में भी बच्चों के लिए फाइजर की वैक्सीन को अनुमति दे दी थी. वहीं, भारत में भी नेशनल कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख ने कहा था कि सरकार कंपनी से लगातार संपर्क में बनी हुई है. फाइजर की एंटी कोविड वैक्सीन को अमेरिका समेत दुनिया के 84 देश अनुमति दे चुके हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज