लाइव टीवी

Tiananmen Square की ऐतिहासिक तस्वीर क्लिक करने वाले फोटोग्राफर का निधन

News18Hindi
Updated: September 14, 2019, 3:16 PM IST
Tiananmen Square की ऐतिहासिक तस्वीर क्लिक करने वाले फोटोग्राफर का निधन
टैंकमैन की इस तस्वीर को बैन किया गया था, जो एक कार्यक्रम में सामने आई तो दुनिया हैरान रह गई थी. सीएनएन से साभार.

यह तस्वीर उस वक्त ली गई थी जब शख्स आ रहे टैंक्स के सामने खड़ा हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 14, 2019, 3:16 PM IST
  • Share this:
चीन (China) के तियानमेन स्क्वायर (Tiananmen Square) घटना की ऐतिहासिक तस्वीर खींचने वाले फोटोग्राफर का इंडोनेशिया (Indonesia) में देहांत हो गया. यह जानकारी अमेरिकी अधिकारियों ने दी.

अमेरिकी अधिकारियों (America) ने बाली में 64 वर्षीय चार्ली कोल की मौत की पुष्टि की. विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि परिवार के प्रति हमारी संवेदना है.

कोल ने बीजिंग के बीच में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों के सैकड़ों सैनिकों के मारे जाने के एक दिन बाद, सफेद शर्ट में एक आदमी की तस्वीर खींचने के लिए साल 1990 विश्व प्रेस फोटो पुरस्कार जीता. जिस शख्स की तस्वीर कोल ने खींची उसके दोनों हाथ में बैग था.

चीन में बैन है यह तस्वीर

यह तस्वीर उस वक्त ली गई थी जब शख्स आ रहे टैंक्स के सामने खड़ा हो गया. चार्ली ने तब ही यह तस्वीर क्लिक की. हालांकि आज तक इस शख्स की पहचान नहीं हो पाई कि वह कौन है. माना जाता है कि चीनी सुरक्षाबलों ने शख्स को गायब कर दिया.

हालांकि यह तस्वीर चीन में बैन है.

उस दिन कई फ़ोटोग्राफ़रों ने 'टैंक मैन' की तस्वीर क्लिक की. बीजिंग होटल की बालकनी से एसोसिएटेड प्रेस के जेफ विडेनर की एक तस्वीर को पुलित्जर अवार्ड के नॉमिनेट किया गया था.
Loading...

क्या था तियानमेन चौक नरसंहार कांड?

1989 में लोकतंत्र बहाली को लेकर जन आंदोलन हुआ था, जिसके पीछे ज़्यादातर छात्र ही थे. इस आंदोलन ने इतनी व्यापकता हासिल की थी कि चीन की राजधानी बीजिंग में स्थित तियानमेन चौक पर सरकार के विरोध में एक लाख से ज़्यादा प्रदर्शनकारी इकट्ठे हो गए थे. इस विद्रोह को कुचलने के लिए चीन सरकार ने मार्शल लॉ लगाया था और तोपों, बंदूकों व टैंकों से गोलीबारी कर प्रदर्शनकारियों को मौत के घाट उतार दिया था.

सरकारी आंकड़े सिर्फ 300 मौतों के जारी हुए थे, लेकिन कभी अस्ल संख्या नहीं बताई गई. कई स्रोतों से दमनचक्र में मारे गए लोगों की संख्या के अनुमान सामने आए, जिनके मुताबिक डेढ़ हज़ार से ढाई हज़ार लोगों के मारे जाने तक की बात कही गई थी. एक दावे में तो 10 हज़ार लोगों के मारे जाने तक की बात कही गई थी.

यह भी पढ़ें:  चीन सीमा पर भारत तैनात करेगा अमेरिकी हथियार, अब दुश्मन को मिलेगा करारा जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 14, 2019, 3:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...