होम /न्यूज /दुनिया /

अमेरिका से 13 हजार किमी. की उड़ान भरकर ऑस्ट्रेलिया पहुंचे कबूतर की नहीं ली जाएगी अब जान

अमेरिका से 13 हजार किमी. की उड़ान भरकर ऑस्ट्रेलिया पहुंचे कबूतर की नहीं ली जाएगी अब जान

पक्षी प्रेमी संगठन की सिफारिश पर कबूतर को नहीं मारे जाने का फैसला किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पक्षी प्रेमी संगठन की सिफारिश पर कबूतर को नहीं मारे जाने का फैसला किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Pigeon Will not Killed now: ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों को यह डर लग रहा है कि इस कबूतर के आने से उनके देश में बीमारी फैल सकती है. ऐसे में कबूतर को मारने की योजना बनाई जा रही थी. हालांकि अमेरिका में एक पक्षियों का संरक्षण करने वाले संगठन (Bird Saving Organisation) के अनुरोध पर इस कबूतर को मारे जाने पर ऑस्ट्रेलिया में फिलहाल रोक लग गई है.

अधिक पढ़ें ...
    कैनबरा. अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के बीच इन दिनों एक कबूतर को लेकर तनातनी चल रही है. अमेरिका (America) से 13 हजार किलोमीटर की उड़ान भरकर कबूतर (Pigeon) ऑस्ट्रेलिया (Australia) के मलबर्न पहुंच गया. ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों को यह डर लग रहा है कि इस कबूतर के आने से उनके देश में बीमारी फैल सकती है. ऐसे में कबूतर को मारने की योजना बनाई जा रही थी. हालांकि अमेरिका में एक पक्षियों का संरक्षण करने वाले संगठन के अनुरोध पर इस कबूतर को मारे जाने पर ऑस्ट्रेलिया में फिलहाल रोक लग गई है.

    13 हजार किलोमीटर की उड़ान भर कर पहुंचा ऑस्ट्रेलिया

    यह कबूतर 29 अक्तूबर 2020 को अमेरिका के ओरेगन से एक रेस के दौरान लापता हो गया और लगभग दो महीने बाद 26 दिसंबर को मेलबर्न पहुंच गया. यह मेलबर्न के केविन सेली बर्ड को खुद के घर के पिछवाड़े में 26 दिसंबर को हांफता हुआ मिला था. इस कबूतर की खबरें मीडिया में आने के बाद आॅस्ट्रेलियाई प्रशासन ने इसे पकड़ने के निर्देश दिए. बर्ड फ्लू के चलते ऑस्ट्रेलियाई प्रशासन ने इस कबूतर को देश के लिए खतरा बना दिया. इसे जब पकड़ा गया तो इसके पैर में बैंड बंधे हुए थे जिसपर उसका पूरा विवरण लिखा हुआ था. इसका नाम नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के नाम पर जो रखा गया है.

    ये भी पढ़ेंः बिल गेट्स बने अमेरिका के ‘सबसे बड़े किसान’,  खरीदी 2.42 करोड़ एकड़ खेती की जमीन 

    जो बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह से पहले व्हाइट हाउस छोड़ देंगे डोनाल्ड ट्रंप!

    ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों ने कबूतर को जनस्वास्थ्य के लिए हानिकारक मानते हुए इसे मारने का फैसला किया, लेकिन इसी बीच मामले की जानकारी मिलने पर अमेरिका के ओकाहोमा की अमेरिकन रेसिंग पीजन यूनियन के मैनेजर डियोन रॉबर्ट्स ने शुक्रवार को कहा, ऑस्ट्रेलिया में पकड़े गए पक्षी के पैर में बंधा बैंड फर्जी है इसलिए उसे मारने का फैसला रद किया जाना चाहिए. कबूतरपीडिया डॉट कॉम के अनुसार, किसी कबूतर द्वारा आजतक सबसे ज्यादा दूरी तय करने का रिकॉर्ड 1931 में बना था जिसमें एक कबूतर फ्रांस के अर्रास से उड़कर वियतनाम के सॉइगान पहुंचा था.undefined

    Tags: America, Australia, Bird Flu

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर