ब्रेग्जिट पर PM बोरिस जॉनसन को झटका, कैबिनेट से भाई ने दिया इस्तीफा

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 10:11 PM IST
ब्रेग्जिट पर PM बोरिस जॉनसन को झटका, कैबिनेट से भाई ने दिया इस्तीफा
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भाई जो जॉनसन ने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है.

जो जॉनसन 2016 में ब्रेग्जिट में रहने के लिए मतदान किया था जबकि उनके भाई ने ब्रेग्जिट से अलग होने के लिए अभियान की सह अगुवाई की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 10:11 PM IST
  • Share this:
लंदन. ब्रिटेन  (Britain) के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) को ब्रेग्जिट (Brexit) के मसले पर अपने ही घर में जबरदस्त झटका लगा है. गुरुवार को ब्रिटिश कैबिनेट में शामिल पीएम बोरिसन के छोटे भाई जो जॉनसन ने कैबिनेट की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. साथ ही उन्होंने कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद की सदस्यता से भी त्यागपत्र दे दिया है. दरअसल ब्रिटेन के ब्रेग्जिट में शामिल होने को लेकर काफी समय से विवाद है.

इस्तीफा देने को लेकर अपने फैसले की जानकारी देते हुए जो जॉनसन ने कहा कि परिवार के प्रति निष्ठा और राष्ट्रीय हित के बीच खुद को फंसा हुआ महसूस कर रहे थे. इस वजह से उन्होंने मजबूरन यह कदम उठाया. गौरतलब है कि जो जॉनसन ब्रिटेन के व्यापार मंत्री होने के साथ ही और ओर्पिंगटन से संसद के रूप में निर्वाचित हुए थे.

Britain, London, PM Boris Johnson, MP brother, resigns
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भाई जो जॉनसन ने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है.


यूरोपीय संघ में सदस्यता को लेकर विवाद

दरअसल जो जॉनसन का इस्तीफा इस बात का संकेत देता है कि ब्रिटेन यूरोपीय संघ में सदस्यता को लेकर किस कदर बंटा हुआ है. उन्होंने ट्विटर पर जारी बयान में कहा, ‘हाल के हफ्तों में मैं परिवार के प्रति निष्ठा और राष्ट्रीय हित के बीच फंसा हुआ महसूस करा रहा था. इस तनाव का कोई हल नहीं था और यही सही समय है कि अन्य लोग सांसद और मंत्री की मेरी भूमिका को ग्रहण करें.’

2016 में ब्रेग्जिट में रहने के लिए किया था मतदान
जो जॉनसन ने कहा कि नौ साल तक ओर्पिंगटन का प्रतिनिधित्व करना तथा तीन प्रधानमंत्रियों के तहत मंत्री बनाना सम्मान की बात है. उन्होंने 2016 में ब्रेग्जिट में रहने के लिए मतदान किया था जबकि उनके भाई ने ब्रेग्जिट से अलग होने के लिए अभियान की सह अगुवाई की थी.
Loading...

जो जॉनसन को ब्रिटेन में भारत के प्रति मित्रवत रूझान रखने वाले सियासतदान के तौर पर देखा जाता है. वह ‘ द फाइनेंशल टाइम्स’ के पत्रकार के तौर पर भारत में भी रह चुके हैं. बता दें कि इससे पहले  प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन को ब्रेक्जिट पर मंगलवार को संसद में एक बड़ी हार का मुह देखना पड़ा था. उनकी खुद की कंजर्वेटिव पार्टी से भी इस पर उनका साथ नहीं दिया था.

ये भी पढ़ें: 

 पाकिस्तान सेना ने काटी इमरान की बात, कहा- परमाणु बम 'पहले इस्तेमाल न करने' की कोई नीति नहीं

रूस में फिर दिखी पीएम मोदी और पुतिन की खास दोस्‍ती, गले लगाकर किया स्‍वागत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 9:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...