लाइव टीवी

भारत-रूस के बीच हुए ये 15 समझौते, पुतिन बोले- भारतीय कंपनियों का रूस में स्वागत

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 5:52 PM IST
भारत-रूस के बीच हुए ये 15 समझौते, पुतिन बोले- भारतीय कंपनियों का रूस में स्वागत
रुस में प्रधानमंत्री मदी से मिलते व्लादिमीर पुतिन (फोटो क्रेडिट- एएनआई)

पीएम मोदी (PM Modi) रूस की यात्रा (Russia Visit) पर गए हुए हैं. रूस (Russia) में बोलते हुए पीएम मोदी ने पाकिस्तान (Pakistan) को एक बार फिर से साफ संदेश देने की कोशिश की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2019, 5:52 PM IST
  • Share this:
पीएम मोदी (PM Modi) रूस की यात्रा पर गए हुए हैं. रूस (Russia) में बोलते हुए पीएम मोदी ने पाकिस्तान (Pakistan) को एक बार फिर से साफ संदेश देने की कोशिश की है. प्रधानमंत्री ने कहा है कि भारत-रूस मानते हैं कि किसी देश के आंतरिक मसले में किसी तीसरे देश को दखल नहीं देना चाहिए.

पीएम मोदी अपनी दो दिन की विदेश यात्रा पर रूस में हैं, जहां उन्होंने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ द्विपक्षीय बातचीत की. इसके बाद दोनों से साझा प्रेस स्टेटमेंट जारी किया जिसमें बताया गया कि दोनों नेताओं के बीच कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं. साथ ही दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मसलों पर भी चर्चा की.

पहली रूसी समिट में गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर गए थे पीएम मोदी
प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान अफगानिस्तान (Afghanistan) पर बात की और कहा कि भारत हमेशा स्वतंत्र अफगानिस्तान की आशा करता है. आगे उन्होंने यह भी कहा कि भारत, स्वतंत्र, शांत और लोकतांत्रिक अफगानिस्तान देखना चाहता है. इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा कि भारत-रूस दोनों ही मानते हैं कि किसी देश के आंतरिक मसले में किसी तीसरे देश को दखल नहीं देना चाहिए. जाहिर है उनका इशारा कश्मीर की तरफ था.

बुधवार को दोनों नेताओं की साझा प्रेसवार्ता (Joint Press Conference) हुई. जिसमें प्रधानमंत्री ने यह भी कहा आज भारत और रूस के बीच 20वां समिट हो रहा है. जब पहला समिट हुआ था तो मैं यहां गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ आया था. तब भी व्लादिमीर ही यहां के राष्ट्रपति थे. उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि दोनों देशों के बीच संबंध नई ऊंचाईयों पर पहुंचें.

गुजरात के CM रहने के दौरान पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी के साथ रूस गए PM मोदी को इस तस्वीर में देखा जा सकता है (फोटो क्रेडिट- नरेन्द्र मोदी, ट्विटर)


दोनों देशों के बीच हुए 15 MoU पर हस्ताक्षर
Loading...

PM मोदी ने यह भी बताया कि भारत में रूस के सहयोग के न्यूक्लियर प्लांट (Nuclear Plant) बनाया जा रहा है. हमारे रिश्तों को हम राजधानियों के बाहर ले जाने के लिए प्रयासरत हैं. उन्होंने कहा कि भारत-रूस रक्षा, कृषि, टूरिज्म और ट्रेड के संबंधों में आगे बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि स्पेस में भी हमारा सहयोग लगातार आगे बढ़ रहा है. पीएम ने यह जानकारी भी दी कि भारत-रूस मिलकर अगले साल टाइगर कन्जर्वेशन पर बड़ा फोरम करने के लिए भी सहमत हुए हैं.

विदेश मंत्रालय के सचिव विजय गोखले ने भी रूस और भारत के बीच हुए इन 15 समझौतों की जानकारी दी. उन्होंने कहा, दोनों देशों के बीच कुल 15 MoU पर साइन हुए हैं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अगले साल मई में एक बार फिर रूस के दौरे पर जाएंगे. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने उन्हें वर्ल्ड वॉर 2 में रूस की जीत के 75 साल पूरे होने के जश्न में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है.



पुतिन ने सामरिक संबंधों को मजबूत बाने की कही बात
बता दें कि प्रेसवार्ता के दौरान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ भी की. व्लादिमीर पुतिन में प्रेसवार्ता में कहा कि दोनों देशों के सामरिक संबंध (Strategic Relationship) बड़ी मात्रा में हैं और दोनों लगातार अपनी दोस्ती मजबूत बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि हम हमेशा संपर्क में रहते हैं और दोनों देशों के बीच लगातार बैठकें हो रही हैं. इससे पहले हम दोनों ओसाका में मिले थे. उन्होंने यह भी कहा कि हम बढ़िया माहौल में बातें कर रहे हैं.

17% बढ़ा है भारत और रूस का व्यापार
व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि पिछली बैठक में हमने फैसले किए, हमने आज उनकी समीक्षा भी की. उन्होंने बताया कि हमारी प्राथमिकता अभी निवेश और व्यापार पर है. उन्होंने यह भी बताया कि रूस और भारत के व्यापार में 17% की बढ़ोत्तरी भी हुई है. उन्होंने दोनों देशों के कई मोर्चों पर साथ में आगे बढ़ने की बात कही है.

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बताया कि दोनों देशों में सुरक्षा (Security), व्यापार (Trade) और ऊर्जा (Energy) से जुड़े समझौते हुए हैं. उन्होंने भारतीय कंपनियों के रूस में स्वागत की बात भी कही. उन्होंने हथियारों के बारे में कहा कि हमारे संबंध इस क्षेत्र में अच्छे हैं और हम भारत में मिसाइल सिस्टम और रायफल बनाने की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि दोनों देशों का इतिहास बहुत पुराना है.

यह भी पढ़ें: रूस में फिर दिखी पीएम मोदी और पुतिन की खास दोस्‍ती, गले लगाकर किया स्‍वागत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 5:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...