पढ़ें: सियोल में मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज द. कोरिया पहुंचे और भारतीय समुदाय को संबोधित किया। इस दौरान मोदी ने सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं।

  • Share this:
सियोल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज द. कोरिया पहुंचे और भारतीय समुदाय को संबोधित किया। इस दौरान मोदी ने सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। मोदी ने कहा कि किस तरह सरकार ने छवि बदलने का काम किया है और उनकी क्या अपेक्षाए हैं। पढ़ें मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें।

1- मैं उन लोगों में से नहीं हूं जो मक्खन पर लकीर करते हैं, मैं पत्थर पर लकीर करना जानता हूं। और इसलिए रास्ता कठिन है। तत्कालीन राजनैतिक लाभ कोसों दूर है फिर भी मैंने रास्ता चुना है। एक ही जड़ी बूटी है, चल पड़ा हूं इसका नाम है विकास।

2- हम आज दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाले देश में हैं। मुझे सामान्य आदमी की जिंदगी बदलनी है। जैसे मैं पीछे पड़ा हूं कि हर घर में टायलेट हो। 21वीं सदी में हमारी मां बहनों को बाहर जाना पड़ता है शौच के लिए, क्या ये सही है। जो काम सदियों से नहीं हुआ, वो कठिन है लेकिन करना चाहिए है या नहीं। बस इसी मंत्र को लेकर चला हूं।



3- आज का नौजवान चाहता है परिवर्तन और हम उसी दिशा में लगे हैं। कुछ चीजों में तो हमारी आदत खराब हो गई है। उसमें मैं किसी सरकारों को दोष नहीं देख रहा हूं। अगर लेट हो रहे हैं तो कहते हैं भारतीय टाइम के मुताबिक। जब मैं पीएम बना तो खबरें ये नहीं आती थीं कि मोदी क्या कर रहा है, लेकिन ये कि दफ्तर ठीक टाइम से खुल रहे हैं।
4- लेकिन मुझे पीड़ा होती थी। क्या मां समय पर खाना खिलाए तो ट्वीट करते हैं क्या, ये सहजता है। अगर मैं कूड़ा भी फेंकता हूं तो गलत काम करता हूं। सवा सौ करोड़ में जगाने की कोशिश कर रहा हूं। भारत का अपना एक वैश्विक दायित्व है।

5- मानवता को केंद्र बिंदु में रखकर हमने मानवता के आधार पर देशों को जोड़ा है। श्रीलंका के अंदर भारत के 5 मछुआरों को फांसी की सजा हुई। अपने संबंधों का प्रयोग करते हुए भारत उन 5 मछुआरों को जीवित वापस लाया।

6- मालद्वीप में पीने का पानी का संकट होता रहता है। एक देश के नागरिकों के पास पीने का पानी नहीं था। विमान के द्वारा उस देश को पीने का पानी पहुंचाया गया, दूसरे दिन स्टीमर के द्वारा पहुंचाया गया। एक भी नागिरक को प्यासा नहीं रहने दिया।

7- अफगानिस्तान में भारत का एक नागरिक फादर प्रेम काम कर रहा था। वो एक साल से तालिबान के कब्जे में था। एक साल के बाद फादर प्रेम को वापस लाए और मां बाप को सुपुर्द कर दिया।

8- जिस दिन बांग्लादेश का जन्म हुआ तो बॉर्डर विवाद का भी जन्म हुआ। 41 साल से इस समस्या का हल नहीं निकला। हमने एक साल के अंदर सुलझा दिया। मैं सारी देश का राजनैतिक पार्टियों का अभिनंदन करता हूं। दोनों हाउस में सबने इसका साथ दिया।

9- नेपाल में भूकंप आया। नेपाल के पीएम ने कहा कि नेपाल में भूंकप आया ये मुझे मोदी के ट्वीट से पता चला। भारत नेपाल के साथ कंधे के साथ कंधा मिलाकर खड़ा हो गय़ा है। इसी तरह यमन में 4000 भारतीय फंसे हुए थे, बमबारी हो रही थी, हर तरफ मौत का साय़ा था। हमने साहस किया, दो घंटे बमबारी रोकने के लिए हम समझा पाए और 4000 लोगों को वापस लाए। इसके अलावा 48 देशों के लोगों को भी लाए। अमेरिका ने अपने लोगों को सूचना दी थी कि आप फंसे हुए हैं तो भारत सरकार से संपर्क करें। नेपाल में भी हमने 50 से ज्यादा देशों के लोगों को बचाया। हमने पाकिस्तान के लोगों को भी बचाया।

10- हमारी कोशिश है कि भारत मैन्यूफैक्चरिंग हब बने। भारत के पास टैलेंट है। इसलिए मेक इन इंडिया के लिए मैं सबको आमंत्रित करता हूं। आपके पास अनुभव है। यहां पर जितना ज्यादा सीख सकते हैं सीखिए और वो किसके काम आएगा ये मुझे पता है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज