जी-20 के लिए जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, जिनपिंग से मुलाक़ात पर सस्पेंस

जी-20 के लिए जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, जिनपिंग से मुलाक़ात पर सस्पेंस
Image Source: MEAIndia Twitter Handle

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने इजराइल दौरे के बाद अब जी20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए जर्मनी पहुंच गए हैं. वह 7 और 8 जुलाई को हैम्बर्ग में हो रहे इस सम्मेलन में शामिल होंगे.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने इजराइल दौरे के बाद अब जी20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए जर्मनी पहुंच गए हैं. वह 7 और 8 जुलाई को हैम्बर्ग में हो रहे इस सम्मेलन में शामिल होंगे.

इस बार के सम्मेल का विषय 'दुनिया (के देशों) में पारस्परिक संबंध को आकार देने' को लेकर है. पीएम मोदी के हैम्बर्ग पहुंचने पर प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा ट्वीट करके इसकी जानकारी दी गई.

गुरुवार देर रात 12:36 बजे पीएमओ के ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट किया गया कि पीएम नरेंद्र मोदी जी20 सम्मेलन के लिए हैम्बर्ग पहुंच चुके हैं.
वहीं, जी-20 सम्मेलन में चीन और भारत के बीच मुलाकात को लेकर संस्पेंस बना हुआ है. सिक्किम सीमा पर चल रहे गतिरोध के बीच चीन ने गुरुवार को कहा कि जी20 सम्मेलन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की​ द्विपक्षीय वार्ता के लिए माहौल सही नहीं है.इन मुद्दों पर चर्चा संभवपीएम नरेंद्र मोदी और विश्व की अन्य शीर्ष अर्थव्यवस्था वाले देशों के नेता शुक्रवार को दो दिवसीय जी20 शिखर सम्मेलन के लिए इकट्ठे होंगे. इस दौरान आतंकवाद से मुकाबला, जलवायु परिवर्तन और विश्व व्यापार जैसे मुद्दे चर्चा के केंद्र में होंगे.कई देशों में मतभेदइस सम्मेलन का आयोजन ऐसे समय में किया जा रहा है जब इसमें हिस्सा लेने वाले कई संभावित नेताओं के बीच के मतभेद उभरकर सामने आ गए हैं. इनमें से अधिकतर मतभेद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा जलवायु परिवर्तन और मुक्त व्यापार को लेकर सार्वजनिक मंचों पर दी गई राय से संबंधित हैं. इस सम्मेलन में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन, फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों समेत अन्य शीर्ष नेताओं के हिस्सा लेने की संभावना है.जी20 में शामिल देश19 देशों और यूरोपीय संघ के संगठन को 'ग्रुप ऑफ 20' कहा जाता है. अर्जेटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनिशया, इटली, जापान, मेक्सिको, रूस, सउदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, ब्रिटेन और अमेरिका इस समूह के सदस्य हैं.इससे पहले पीएम मोदी इजराइल के तीन दिवसीय दौरे पर थे. पीएम मोदी ने इस दौरे में आतंकवाद और आर्थिक सहयोग से जुड़े अहम मुद्दों पर चर्चा की.




इजराइल को अलविदा कहते हुए मोदी ने ट्वीट में लिखा, 'मैं इजराली सरकार लोगों का उनके सादर-सत्कार के लिए शुक्रिया अदा करता हूूं.' उन्होंने ये भी कहा कि यह सफल दौरा भारत और इजराइल के रिश्तों को और उर्जा प्रदान करेगा.

नेतन्याहू के साथ ओल्गा बीच  पर
इससे पहले अपनी यात्रा के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजराइली समकक्ष बेंजामिन नेतन्याहू ने समुद्र तट पर पानी में खड़े होकर एक दूसरे से संवाद किया. दोनों नेता उत्तरी इजराइल के ओल्गा बीच पर समुद्र पर पानी के शोधन की प्रौद्योगिकी के साक्षी बने. यहां इजराइल ने जल शोधन की यूनिट लगा रखी है.

नेतन्याहू ने ट्वीट किया, 'दोस्तों के साथ बीच पर जाने जैसा कुछ नहीं है.' बाद में इजराइल प्रधानमंत्री ने मोदी को ओल्गा बीच पर पानी में खड़े दोनों की तस्वीर भेंट की जिस पर दोनों के हस्ताक्षर हैं.

ये भी पढ़ें
भारत और इजराइल के बीच हुए ये हैं सात समझौते
PHOTO: इजराइल में कुछ इस तरह मोशे से मिले मोदी 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज