लाइव टीवी

PM मोदी ने कहा-अर्थव्यवस्था के विकास के लिए स्थिर तेल की कीमतें जरूरी, सऊदी से है बहुत उम्मीदें

News18Hindi
Updated: October 29, 2019, 12:41 PM IST
PM मोदी ने कहा-अर्थव्यवस्था के विकास के लिए स्थिर तेल की कीमतें जरूरी, सऊदी से है बहुत उम्मीदें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरब न्यूज़ (Arab News) को इंटरव्यू दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अरब न्यूज़ (Arab News) को दिए गए एक इंटरव्यू में ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'हम अपनी ऊर्जा संबंधी आवश्यकताओं के महत्वपूर्ण और विश्वसनीय स्रोत के रूप में सऊदी अरब की भूमिका को महत्व देते हैं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2019, 12:41 PM IST
  • Share this:
रियाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) तीन साल में दूसरी बार सऊदी अरब के दौरे पर हैं. सोमवार को रियाद पहुंचे पीएम मोदी ने कहा कि सऊदी अरब भारत की ऊर्जा संबंधी जरूरतों को पूरी करने में अहम योगदान देता है. ऐसे में कच्चे तेलों की स्थिर कीमतें वैश्विक अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिए अच्छा होगा. पीएम मोदी ने कहा कि सऊदी अरब से करीब 18 फीसदी कच्चे तेल का भारत आयात करता है. भारत सरकार की स्पष्ट सोच है कि सऊदी अरब के साथ मिलकर हम रणनीतिक समझौते के तहत आगे बढ़ सकते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अरब न्यूज़ (Arab News) को दिए गए एक इंटरव्यू में ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'हम अपनी ऊर्जा संबंधी आवश्यकताओं के महत्वपूर्ण और विश्वसनीय स्रोत के रूप में सऊदी अरब की भूमिका को महत्व देते हैं. हमारा मानना है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास के लिए, विशेष रूप से विकासशील देशों के लिए स्थिर तेल की कीमतें बहुत जरूरी हैं. उम्मीद है कि फ्यूचर इन्वेस्टमेंट इनिशटिव (FII) समिट में इस पर चर्चा होगी और कुछ जरूर निकलेगा.'


पीएम मोदी ने कहा कि मुद्दे सुलझाने के लिए संतुलित और विकसित सोच की जरूरत होती है. सऊदी अरब कई मसलों पर भारत का साथ दिया. अरब ने भारत के व्यापार के लिए अच्छा माहौल बनाया. पीएम ने सुरक्षा और व्यापारिक मुद्दों पर सऊदी अरब के साझा सहयोग पर खुशी भी जाहिर की.


AJIJ
पीएम मोदी का स्वागत करते रियाद गवर्नर एचआरएच प्रिंस फैसल बिन बंदर अल सउद


सऊदी अरब और भारत की सुरक्षा जरूरतें एक जैसी
संभावित सुरक्षा समझौतों पर पीएम मोदी ने कहा, 'सऊदी अरब और भारत की सुरक्षा जरूरतें भी एक जैसी हैं. ऐसे में हम अरब के साथ सुरक्षा सहयोग पर समझौते का कदम बढ़ा रहे हैं. इनमें रक्षा उद्योग में साझेदारी और दोनों देशों के बीच सुरक्षा मुद्दों पर वार्ता शामिल है.
Loading...

बिजनेस-फ्रेंडली माहौल बनाने पर सरकार का जोर
भारत, सऊदी अरब समेत दूसरे एशियाई देश आर्थिक सुस्ती के प्रभाव से कैसे बाहर आ सकते हैं? इस सवाल के जवाब में भारत के पीएम ने कहा, 'हमारी सरकार ने ऐसे कई कदम उठाए हैं, जिससे बिजनेस-फ्रेंडली माहौल तैयार हो सके. मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया और स्वच्छ भारत कुछ ऐसे ही प्रयास हैं. कारोबारियों को इनका फायदा हो रहा है.

saudi
रियाद में पीएम मोदी गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया.



सऊदी अरब के साथ ऊर्जा समझौते पर पीएम मोदी ने कहा, 'दोनों देश इस क्षेत्र में रणनीतिक साझेदारी पर काम कर रहे हैं. इसमें सऊदी के तेल और गैस प्रोजेक्ट्स में निवेश भी शामिल है. पीएम मोदी ने कहा, 'मेरी पिछली सऊदी यात्रा पर हमने इसपर बात की थी. इस बार की यात्रा पर भी मैं समझता हूं कि भारत और सऊदी अरब विकास की ओर एक और साझा कदम बढ़ाएंगे. मेरी इस यात्रा के दौरान भारत और सऊदी के बीच विभिन्न क्षेत्रों में समझौते होने हैं. इनमें रक्षा, व्यापार, सुरक्षा और नवीनीकरण ऊर्जा शामिल है.


प्रधानमंत्री ने कहा कि असमानता दूर करने और सतत विकास को बढ़ावा देने के लिए भारत और सऊदी अरब जी20 के तहत मिलकर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि एक रणनीतिक भागीदारी परिषद पर एक समझौते पर हस्ताक्षर के साथ विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंध और मजबूत होंगे.

बता दें कि भारत-सऊदी अरब के बीच 2010 में हुए रियाद डिक्लरेशन के तहत दोनों देशों के नेता कई बार मिल चुके हैं. सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने पिछले साल फरवरी में भारत की यात्रा की थी. पीएम मोदी ने क्राउन प्रिंस की इस यात्रा को सऊदी के साथ विशेष संबंध की ओर एक और कदम करार दिया था.

 

ये भी पढ़ें: कश्मीर को लेकर बड़ा बदलाव दिखा रहा है यूरोपीय सांसदों का ये दौरा

ये भी पढ़ें: यूरोपीय सांसद आज करेंगे कश्मीर का दौरा, विपक्ष ने उठाए सवाल

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान में मीडिया पर पाबंदी चरम पर, जबरदस्ती बंद करवाई एक्टिविस्ट की प्रेस कांफ्रेंस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 10:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...