कोरोना संकट को लेकर PM मोदी ने ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स से फोन पर की बात

कोरोना संकट को लेकर PM मोदी ने ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स से फोन पर की बात
पीएम नरेंद्र मोदी और प्रिंस चार्ल्स (फाइल फोटो)

प्रिंस चार्ल्स (Prince Charles) को पिछले महीने कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी. बयान में कहा गया कि महामारी से लड़ने में ब्रिटेन में अनिवासी भारतीयों की भूमिका की उन्होंने सराहना की जिसके कई सदस्य राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा में कार्यरत हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स से टेलीफोन पर बात की और कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट पर चर्चा की. ब्रिटेन के प्रिंस ने महामारी से लड़ने में भारतीय प्रवासी नागरिकों की सराहना की. विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया कि प्रधानमंत्री ने पिछले कुछ दिनों में ब्रिटेन में लोगों के मरने पर दुख जताया.

प्रधानमंत्री मोदी ने संतोष जताया कि प्रिंस ऑफ वेल्स हाल में इस बीमारी से उबरे. मोदी ने उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की. प्रिंस चार्ल्स को पिछले महीने कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी. बयान में कहा गया कि महामारी से लड़ने में ब्रिटेन में अनिवासी भारतीयों की भूमिका की उन्होंने सराहना की जिसके कई सदस्य राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा में कार्यरत हैं.

प्रिंस चार्ल्स ने पीएम मोदी को किया धन्यवाद



प्रिंस ऑफ वेल्स ने ब्रिटेन में भारतीय समुदाय के धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों के नि:स्वार्थ कार्यों की भी तारीफ की. उन्होंने वर्तमान संकट के दौरान भारत में फंसे ब्रिटिश नागरिकों का सहयोग करने के लिए भी प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया. मोदी ने आयुर्वेद में गहरी रूचि लेने के लिए भी प्रिंस चार्ल्स को धन्यवाद दिया.



जांच में लाई जा रही तेजी

वहीं, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना वायरस की जांच का दायरा व्यापक न कर पाने को लेकर अपनी सरकार की बढ़ती आलोचना के बीच गुरुवार को कहा कि देश में वायरस की जांच में जबरदस्त तेजी लाई जाएगी. जॉनसन ने 27 मार्च को ऐलान किया था कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और उन्होंने डॉउनिंग स्ट्रीट में खुद को अलग रख रखा है. बुधवार रात उन्होंने डॉउनिंग स्ट्रीट से एक ऑनलाइन वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा कि जांच धीमी चल रही है. उन्होंने कहा, 'हम जांच की रफ्तार तेज कर रहे हैं. मैं हफ्तों पहले ही कह चुका हूं कि जांच की धीमी रफ्तार रही है. हम इसे काफी तेज कर रहे हैं.'

बता दें कि  बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार ब्रिटेन में कोरोना वायरस के संक्रमण से 2,352 लोगों की मौत हो चुकी है. बुधवार को एक दिन में सबसे अधिक 563 लोगों ने दम तोड़ दिया. मृतकों में दो चिकित्साकर्मी भी थे. इसके अलावा आम लोगों की भी बड़े पैमाने पर जांच नहीं की जा रही , जिसके चलते सरकार की आलोचना हो रही है. मंगलवार को इंग्लैंड में 10 हजार आम लोगों और एनएचएस के कर्मचारियों की ही जांच हुई जो कि दिन के औसत लक्ष्य 25 हजार से आधे से भी कम है. वहीं जर्मनी में एक दिन में लगभग 70 हजार लोगों की जांच की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading