रूस के इस शहर में घुसे ध्रुवीय भालू, लोगों में डर

भालुओं ने सेना की खाली पड़ी इमारतों में शरण ले रखी है. वे बाहर निकलने वाले लोगों को पीछा भी कर रहे हैं. अधिकारियों का कहना है कि यदि भालू काबू में नहीं आए तो उन्‍हें मारना ही उपाय होगा.

News18Hindi
Updated: February 10, 2019, 3:26 AM IST
रूस के इस शहर में घुसे ध्रुवीय भालू, लोगों में डर
ध्रुवीय भालू. (File Photo)
News18Hindi
Updated: February 10, 2019, 3:26 AM IST
रूस के एक शहर में ध्रुवीय भालुओं के घुसने की खबर है. उत्‍तरपूर्वी शहर नोवाया जेमलिया आर्चिपेलागो में घरों और सार्वजनिक इमारतों में दर्जनों भालुओं के घुसे हैं. इसके चलते इमरजेंसी का ऐलान कर दिया गया है. अधिकारियों ने बताया कि इस शहर की आबादी 3000 के करीब है और लोगों ने मदद की गुहार लगाई है. इस शहर में रूस की एयर फॉर्स और एयर डिफेंस सेना का बेस कैंप भी है.

रूसी अधिकारियों ने अभी भालुओं को मारने की अनुमति नहीं दी है लेकिन इस कदम को पूरी तरह से खारिज भी नहीं किया गया है. एक आयोग का गठन किया गया है जो मामले की जांच करेगा.

धरती के बढ़ते तापमान की वजह से ध्रुवों की बर्फ तेजी से पिघल रही है ऐसे में ध्रुवीय भालू खाने की तलाश में रिहायशी इलाकों की तरफ मुड़ रहे हैं. रूस में ध्रुवीय भालुओं को विलुप्ति की कगार पर खड़े जानवरों की सूची में शामिल किया गया है और उनका शिकार करना प्रतिबंधित है.



स्‍थानीय मीडिया के अनुसार दिसंबर से लेकर अब तक करीब 52 ध्रुवीय भालू आर्चिपेलागो की मुख्‍य बस्‍ती बेलुश्‍या गुबा में देखे गए हैं. इनमें से कुछ भालू काफी गुस्‍से और आक्रामक रहे हैं. कुछ लोगों पर भी भालुओं ने हमला किया है तो वे घरों और सार्वजनिक इमारतों में भी घुस गए हैं. अधिकारियों का कहना है कि लगातार 6-10 भालू बस्‍ती में घूम रहे हैं. लोग डरे हुए हैं और वे घरों से बाहर भी नहीं निकल रहे हैं. बच्‍चों के स्‍कूल जाने पर खतरे का साया है.

स्‍थानीय प्रशासन के मुखिया जिगांसा मुसीन ने बताया कि वे साल 1983 से नोवाया जेमलिया में रह रहे हैं और उन्‍होंने कभी ध्रुवीय भालुओं को इस तरह झुंड में आते नहीं देखा. ऐसा पहली बार हो रहा है.

भालुओं ने सेना की खाली पड़ी इमारतों में शरण ले रखी है. वे बाहर निकलने वाले लोगों को पीछा भी कर रहे हैं. अधिकारियों का कहना है कि यदि भालू काबू में नहीं आए तो उन्‍हें मारना ही उपाय होगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर